Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

हम सभी ने हाल ही में ऐसा समय देखा है, जब घर पर ही कोरोना जैसी गंभीर बीमारी से लड़ा गया. इस दौरान ऑक्सीमीटर की मदद से कई कोरोना रोगियों को समय पर इलाज मिल पाया और उनकी जान बचाई जा सकी. कोरोना की तरह ऐसी कई और गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं हैं, जिनसे ग्रसित व्यक्ति को समय पर इलाज ना मिल पाने के कारण जान तक जा सकती है. लेकिन, अगर आपके घर पर ये 5 मेडिकल डिवाइस हैं, तो आप मरीज के स्वास्थ्य की बिना देरी किए जांच कर सकते हैं और समय पर जरूरी इलाज दिलवाकर उसकी जान बचा सकते हैं. आइए जानते हैं कि आज के समय में घर पर कौन-से 5 मेडिकल डिवाइस जरूर होने चाहिए-

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

1. थर्मामीटर (Thermometer)
कोरोना हो, डेंगू हो या हाइपरथर्मिया (गर्मी के कारण असामान्य शारीरिक तापमान), इन स्वास्थ्य समस्याओं में शरीर का तापमान काफी बढ़ जाता है. जिसे हम बुखार के नाम से जानते हैं. अगर समय पर बुखार के असामान्य स्तर के बारे में नहीं पता लगाया जाता, तो यह दिमाग पर भी चढ़ सकता है. तेज बुखार होने का मतलब है कि संक्रमण या बीमारी गंभीर होती जा रही है. जिसके कारण जान भी जा सकती है. इसलिए बुखार की समय पर जांच करने के लिए आपको घर में थर्मामीटर जरूर रखना चाहिए. 100 से ऊपर बुखार में आपको डॉक्टरी मदद लेनी चाहिए.

2. पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter)
कोविड-19 के कारण मरीजों का ऑक्सीजन लेवल बहुत ही तेजी से गिर जाता है. जिसकी वजह से तुरंत अस्पताल पहुंचकर जरूरी ऑक्सीजन लेने की जरूरत आ जाती है. अगर आपके यहां पल्स ऑक्सीमीटर नहीं होगा, तो ऑक्सीजन की कमी के बारे में और उसके बाद अस्पताल जाकर ऑक्सीजन मिलने में समय लग सकता है. इसलिए अगर कोई कोरोना संक्रमित है या किसी को सांस लेने में दिक्कत हो रही है, तो आपको पल्स ऑक्सीमीटर से उसके शरीर की ब्लड ऑक्सीजन और पल्स यानी नब्ज की जांच करनी चाहिए. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, 95 से कम ऑक्सीजन होना खतरनाक हो सकता है.

3. ब्लड प्रेशर मॉनिटर (Blood Pressure Monitor)
ब्लड प्रेशर एक साइलेंट किलर है, जो शरीर को अंदर ही अंदर नुकसान पहुंचाता रहता है. इसके कारण दिल के कई रोग हो सकते हैं और यह हार्ट अटैक का कारण भी बन आ सकता है. अगर आपको ब्लड प्रेशर की समस्या रहती है और यह बहुत कम या ज्यादा हो जाता है, तो आपको घर पर ब्लड प्रेशर मॉनिटर जरूर रखना चाहिए. जिससे रोजाना आप अपने ब्लड प्रेशर की जांच कर सकें और जरूरी देखभाल कर सकें. आपका ब्लड प्रेशर सामान्यत: 120/80 के आसपास होना चाहिए.

4. ग्लूकोमीटर या ब्लड ग्लूकोज मॉनिटर (Glucometer or Blood Glucose Monitor)
आजकल डायबिटीज एक आम समस्या हो गई है, जो खराब जीवनशैली या मोटापे के कारण अधिकतर लोगों को है. लेकिन आम होने के बावजूद इसे कम खतरनाक नहीं माना जा सकता. लंबे समय तक शरीर में ब्लड ग्लूकोज का उच्च स्तर किडनी डैमेज, हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी जानलेवा समस्याएं पैदा कर सकता है. इसलिए मधुमेह रोगियों को नियमित अंतराल पर घर पर ही ब्लड ग्लूकोज का स्तर चेक करते रहना चाहिए. जिसके लिए घर पर ग्लूकोमीटर होना चाहिए. जीवनशैली विशेषज्ञ डॉ. एच. के. खरबंदा के मुताबिक, आपका रैंडम ब्लड शुगर टेस्ट का रिजल्ट 150mg/dL होना चाहिए.

5. नेब्यूलाइजर (Nebulizer)
अस्थमा या फेफड़ों की समस्या से ग्रसित मरीजों को घर पर नेब्यूलाइजर मशीन लाकर रख लेनी चाहिए. क्योंकि फेफड़ों से संबंधित समस्याओं में सूजन व सांस लेने में हो रही समस्या को कम करने के लिए नेब्यूलाइजर के इस्तेमाल से दवाई ली जाती है. आमतौर पर नेब्यूलाइजर की मदद से 5 से 10 मिनट में फेफड़ों तक आराम पहुंचाने वाली दवाई पहुंच जाती है और अस्थमा या सीओपीडी के मरीज को राहत मिलती है. जो कि उनकी जान बचाने के लिए काफी मददगार होता है.