Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

मुंबई। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने नियमों का उल्लंघन करने पर तीन सहकारी बैंकों पर 23 लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया है। आरबीआई ने इसके पहले भी कई बैंकों पर पेनल्टी और प्रतिबंध लगाए हैं।
जिन तीन बैंकों पर रिजर्व बैंक ने जुर्माना लगाया है इनमें मोगावीरा को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड, इंदापुर अर्बन कोऑपरेटिव बैंक और बारामती सहकारी बैंक लिमिटेड शामिल हैं। मोगावीरा पर सबसे ज्यादा 12 लाख रुपये का जुर्माना लगा है, इसके बाद 10 लाख रुपये इंदापुर अर्बन को-ऑपरेटिव और बाकी 1 लाख का जुर्माना बारामती सहकारी बैंक पर लगा है। मोगवीरा सहकारी बैंक को लेकर रिजर्व बैंक ने कहा है कि 31 मार्च, 2019 को अपनी वित्तीय स्थिति के आधार पर बैंक की निरीक्षण रिपोर्ट से पता चला है कि उसने फंड में पूरी तरह से दावा न किए गए जमा को ट्रांसफर नहीं किया था और न ही निष्क्रिय खातों का सालाना रिव्यू किया था। इसके अलावा इस बैंक ने खातों की रिस्क कैटेगरी का समय-समय पर रिव्यू करने की भी कोई व्यवस्था नहीं की थी। पुणे के इंदापुर अर्बन कोऑपरेटिव बैंक को लेकर रिजर्व बैंक का कहना है कि इस बैंक की जांच रिपोर्ट से पता चला कि 31 मार्च 2019 तक बैंक ने अनसिक्योर्ड एडवांस की कुल सीलिंग का पालन नहीं किया था और न ही बैंक ने सभी खातों की रिस्क कैटेगरी की समय-समय पर रिव्यू करने का भी कोई इंतजाम नहीं किया था। बैंक के पास एक मजबूत सिस्टम भी नहीं था, जिससे ग्राहक की रिस्क कैटेगरी के साथ जब भी असंगत लेन-देन हो तो अलर्ट जेनरेट हो जाए। जबकि, बारामती सहकारी बैंक पर जुर्माना किसी अन्य बैंक से किए गए लेन-देन में प्रुडेंशियल इंटर-बैंक एक्सपोजर लिमिट के उल्लंघन पर लगाया गया। आरबीआई ने कहा है कि इन तीनों सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाने का फैसला रेगुलेटरी कंप्लायंस यानी में कमी पाए जाने की वजह से लगाया गया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!