Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

डेल्टा प्लस वैरिएंट से उज्जैन के बाद अशोकनगर के शख्स ने दम तोड़ा

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

अब तक मध्य प्रदेश में दो की मौत
भोपाल।
मध्यप्रदेश के उज्जैन में कोरोना के डेल्टा+ से एक मौत की पुष्टि के बाद अशोकनगर के एक व्यक्ति की मौत भी डेल्टा+ से होने का मामला सामने आया है। जिस व्यक्ति की मौत हुई है, वह लंबे समय से भोपाल में रह रहा था। यहीं पर संक्रमित हुए और मौत हो गई। उनके आधार और दस्तावेजों में अशोकनगर का पता दर्ज है। कलेक्टर अभय वर्मा ने इसकी पुष्टि भी की है।
अशोकनगर निवासी नितिन जैन भोपाल में रहते हैं। कोरोना की दूसरी लहर में वे भोपाल में संक्रमित मिले। यहां अस्पताल में भर्ती किया गया। यहां 13 मई को मौत हो गई। इसके बाद उनका सैंपल जांच के लिए भेजा गया था। जांच रिपोर्ट में उनमे कोरोना के डेल्टा+ वैरिएंट की पुष्टि हुई है। कलेक्टर अभय वर्मा ने बताया, नितिन जैन भोपाल और अशोकनगर दोनों जगह रहते थे। चूंकि वे मूल रूप से अशोकनगर के निवासी थे, इसलिए आधार कार्ड और अन्य दस्तावेजों में पता अशोकनगर का ही दर्ज है।
दो वर्षीय बच्ची में मिला डेल्टा प्लस वैरिएंट
इसके अलावा विभाग को सीहोर के कालापीपल की भी एक दो वर्षीय बच्ची की जानकारी नहीं मिल रही है। इस बच्ची के सैंपल में भी डेल्टा प्लस वैरिएंट की पुष्टि हुई है। विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार सीहोर के कालापीपल की दो साल एक बच्ची 10 मई को कोरोना संक्रमित हुई थी। बच्ची में वैरिएंट की जांच के लिए सैंपल भोपाल भेजे गए थे। जांच रिपोर्ट में अब डेल्टा प्लस वैरिएंट की पहचान हुई है। अधिकारियों का कहना है कि बच्ची की कांट्रैक्ट हिस्ट्री पता करने के लिए भोपाल और सीहोर में दोनों जगह प्रयास किए जा रहे हैं। बच्ची के परिजनों का जो मोबाइल नंबर रिकार्ड में दर्ज है उस पर संपर्क नहीं हो पा रहा है। बच्ची को खोजने के लिए सीहोर और भोपाल की दो अलग-अलग टीमों को लगाया गया है।
4 मरीज ठीक हो चुके हैं
राज्य सरकार की ओर से जानकारी दी गई, मप्र में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वैरिएंट के 5 में से 4 मरीज कोरोना से स्वस्थ हो चुके हैं। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि डेल्टा प्लस वैरिएंट के 5 मामले सामने आए हैं। इसे लेकर राज्य स्तर पर समीक्षा की जाएगी। प्रदेश में डेल्टा प्लस से एक मौत हुई है। इसमें सामने आया है, जिन्हें वैक्सीन लग चुकी थी, वो डेल्टा प्लस को भी हराने में कामयाब हुए। सारंग ने कहा कि डेल्टा प्लस वैरिएंट से उज्जैन में एक मरीज की मौत हुई, उनको कोरोना की वैक्सीन नहीं लगी थी। बाकी चार मरीजों को पहले टीके लग चुके थे और अब वे स्वस्थ हैं।

%d bloggers like this: