Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

श्रीनगर। श्रीनगर के पारिंपोरा में सोमवार शाम से जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। इनमें पाकिस्तानी आतंकी नदीम अबरार और एक उसका स्थानीय साथी शामिल है। अबरार लश्कर-ए-तैयबा का टॉप कमांडर भी था। उसे कल ही गिरफ्तार किया था। देर रात तक सिर्फ एक आतंकी के मारे जाने की खबर थी।
सुरक्षाबलों ने इस पूरे इलाके को घेर लिया था। सबसे पहले यहां से स्थानीय लोगों को बाहर निकाला गया। अबरार की निशानदेही पर हथियारों की तलाशी की जा रही थी तभी एक घर में छिपे उसके साथी ने फायरिंग शुरू कर दी। इसमें सीआरपीएफ के 3 जवान और अबरार जख्मी हो गए। जवाबी कार्रवाई में अबरार का साथी मारा गया। बाद में अबरार ने भी दम तोड़ दिया। 24 घंटे में श्रीनगर के सबसे ज्यादा सुरक्षित इलाकों में दो बड़ी घटनाएं हुई हैं, जबकि त्राल में आतंकियों ने एक पुलिसकर्मी के परिवार को निशाना बनाया है।
अब जम्मू में मिलिट्री स्टेशन पर दिखे दो ड्रोन


जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर हमले के 24 घंटे के भीतर ही कालूचक मिलिट्री स्टेशन पर ड्रोन से हमला करने की कोशिश को सेना ने नाकाम कर दिया। हमले के लिए अलग-अलग आए दो ड्रोन को जवानों ने फायरिंग कर खदेड़ दिया। घटना के बाद पूरे इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया। हाईवे के साथ ही अन्य इलाकों में गश्त बढ़ा दी गई। सैन्य ठिकानों के साथ ही प्रमुख स्थानों तथा आईबी व एलओसी पर सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। सैन्य प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने बताया कि रतनुचक-कालूचक सैन्य क्षेत्र (मिलिट्री स्टेशन) में दो अलग-अलग ड्रोन देखे गए। एक ड्रोन रविवार की रात 11.45 बजे और दूसरा सोमवार सुबह 2.40 बजे देखा गया। वायुसेना स्टेशन पर हमले के बाद पूरे सैन्य कैंप अलर्ट पर थे। लिहाजा, इन दोनों ड्रोन के दिखते ही जवानों ने फायरिंग कर इन्हें वापस खदेड़ दिया। कालूचक सैन्य कैंप पर 2002 में आतंकी हमला हो चुका है। इस हमले में 31 लोगों की जान गई थी। तीन साल पहले ही दो आतंकी कालूचक सैन्य इलाके की वीडियो बनाते हुए पकड़े गए थे। यह वीडियो पाकिस्तान भेजी गई थी।