Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

123 परिवारों को मुआवजा, शेष के खातों में सोमवार को पहुंचेगी राशि
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

महाकाल विस्तारीकरण योजना में खाली कराई जा रही बेगमबाग कच्ची बस्ती शाकेब बाग में आज से प्रशासन की कार्यवाही तेज हो गई है। यहां बने 147 मकानों को पूरी तरह से खाली करा लिया गया है। आज शाम तक अधिकांश मकानों को जमींदोज कर दिया जाएगा।
महाकाल मंदिर और उसके आसपास क्षेत्र में विस्तारीकरण योजना का कार्य काफी तेजी के साथ चल रहा है। जिसमें पिछले 10 दिनों से बेगमबाग कच्ची बस्ती में बने शाकेब बाग के 147 मकानों को हटाने की कार्यवाही शुरू की गई थी। यहां रहने वाले परिवारों को प्रशासन की ओर से 3-3 लाख रुपए का मुआवजा दिया गया है। 8 दिनों से रहवासी अपने बैंक दस्तावेज प्रशासनिक अधिकारियों को उपलब्ध करा रहे थे। शनिवार को दस्तावेज जमा कराने की आखिरी तारीख थी। दोपहर तक सभी रहवासियों ने अपने दस्तावेज उपलब्ध करा दिए थे। उसके बाद प्रशासन ने अपनी कार्यवाही तेज कर दी थी। भारी पुलिस बल के बीच प्रशासन ने शनिवार को 10 से अधिक मकान तोड़े। आज सुबह से मकानों को पूरी तरह जमींदोज करने की कार्यवाही तेज कर दी गई है। कुछ दिनों में ही शाकेब बाग को पूरी तरह से समतल कर विस्तारीकरण योजना के कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। शनिवार को अंतिम तिथि होने पर कुछ लोगों ने विरोध किया था लेकिन एडीएम नरेन्द्र सूर्यवंशी ने विरोध करने वाले परिवारों को समझाया और उन्हें जगह खाली करने के लिए कहा। उक्त परिवार एडीएम की बात से सहमत हो गए जिन्हें महाराजवाड़ा स्कूल परिसर में जगह दी गई। उसके बाद उनके मकानों को भी तोडऩे का काम शुरू किया गया। आज सुबह से भारी पुलिस बल के बीच कार्यवाही तेज कर दी गई थी। मामले में एसडीएम संजीव साहू ने बताया कि यहां बने 123 मकानों के रहवासियों के खातों में मुआवजा राशि प्रशासन की ओर से जमा कराई जा चुकी है। शेष रहवासियों के दस्तावेज देरी से मिले हैं जिसके चलते उनके खाते में सोमवार तक राशि जमा करा दी जाएगी।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

बीमार महिला को एम्बुलेंस की मदद से पहुंचाया अस्पताल
शनिवार को कार्यवाही के दौरान एक मकान में रहने वाली महिला बीमार होना सामने आई थी जो मकान में ही रह रही थी। प्रशासन की टीम ने पुलिस की मदद से एम्बुलेंस द्वारा उक्त महिला के परिजनों को समझाने के बाद उसे उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया और परिजनों को महाराजवाड़ा स्कूल में जगह देकर पुलिस की मदद से उनके घर का सामान बाहर निकलवाया। बताया जा रहा है कि उक्त मकान में परिवार के 3 सदस्यों के परिजन रहते थे। सभी को मुआवजा दिए जाने की बात कही गई है।
इधर दुकानदारों ने विरोध स्वरूप दिया मौन धरना
महाकालेश्वर मंदिर परिसर के विस्तारीकरण योजना में मंदिर के चारों ओर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही प्रशासन द्वारा शुरू की गई है जिसके चलते मंदिर के सामने कुछ मकान और दुकानें जद में आ रही हैं। जिसके चलते दुकानदारों ने मौन धरना देकर कार्यवाही का विरोध दर्ज कराया है। मकान मालिक मुआवजा राशि दोगुना मिलने से चुप हैं। दुकानदारों का कहना था कि वर्षों से वह यहां किराये की दुकानें लेकर व्यवसाय कर रहे हैं। विस्तारीकरण योजना में उन्हें हटाया गया तो उन पर आर्थिक संकट गहरा जाएगा। प्रशासन ने भी कोई आश्वासन नहीं दिया है।