Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

कोर्ट में सियासी संग्राम: कलकत्ता हाईकोर्ट ने ममता बनर्जी पर लगाया 5 लाख जुर्माना

कोलकाता। कलकत्ता हाईकोर्ट ने बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर 5 लाख रुपए का जुर्माना लगा दिया। ममता पर यह जुर्माना इसलिए लगाया गया, क्योंकि अपनी एक चुनाव याचिका की सुनवाई से जस्टिस कौशिक चंदा को हटाने की मांग की थी। ममता ने चंदा पर भाजपा से संबंधों का आरोप लगाया था। ममता की ओर से कहा गया था कि जस्टिस चंदा की एक फोटो सामने आई है, जिसमें वे भाजपा नेताओं के साथ दिखाई दे रहे हैं। ऐसे में उन्हें इस केस से हट जाना चाहिए।
इस पर कोर्ट ने बुधवार को कहा कि ममता ने न्यायपालिका की छवि धूमिल करने की कोशिश की है। हालांकि जस्टिस चंदा ने खुद ही इस केस से हटने फैसला लिया है। इससे पहले उन्होंने कहा, यह समझ से परे है कि इस केस में हितों का टकराव है। दिक्कतें पैदा करने वालों को विवाद जारी रखने का मौका नहीं मिलना चाहिए। अगर केस के साथ अवांछित समस्या जारी रहती है तो यह यह न्याय के हितों के विपरीत होगा। 2 मई को देश के 4 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे आए थे। बंगाल में ममता नंदीग्राम सीट पर क्चछ्वक्क के शुभेंदु अधिकारी से 1956 वोटों से हार गईं। नतीजे के दिन ही ममता ने वोटों की दोबारा गिनती की मांग की, जिसे चुनाव आयोग ने नहीं माना। इसके बाद चुनावी नतीजों के खिलाफ ममता कलकत्ता हाईकोर्ट चली गईं। इस याचिका में उन्होंने शुभेंदु अधिकारी पर चुनाव में रिश्वतखोरी, भ्रष्टाचार और धर्म के आधार पर वोट मांगने के आरोप लगाए हैं और चुनाव रद्द करने की मांग की। नंदीग्राम में हार के बाद ममता ने 7 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसके बाद सबसे बड़ा सवाल यह था कि वह चुनाव कहां से लड़ेंगी। आखिरकार, उनकी पारंपरिक सीट भवानीपुर से जीते ञ्जरूष्ट के विधायक शोभन देव चटर्जी ने इस्तीफा दे दिया। यह तय है कि ममता यहीं से चुनाव लड़ेंगी। बंगाल में 2011 के विधानसभा चुनाव में भवानीपुर से तृणमूल के सुब्रत चुनाव जीते थे। उनके इस्तीफे के बाद ममता ने यहां उप-चुनाव लड़ा था और जीती थीं। 2016 में भी वे इसी सीट से लड़ीं और जीतीं थीं।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
%d bloggers like this: