Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन
रात में हुई बूंदाबांदी के बाद आज दोपहर तेज बारिश का दौर शुरू हो गया था जिसके चलते सड़कें तरबतर हो गई। बारिश के बाद उमस से लोगों की परेशानी बढ़ी है। तेज बारिश के बाद रिमझिम का दौर चल पड़ा था।
इस बार मानसून रूक-रूककर शहर में आ रहा है जो शहर के आधे हिस्से में बरस रहा है तो आधा हिस्सा सूखा दिखाई दे रहा है। बीती रात 1.30 बजे के लगभग हल्की बूंदाबांदी शुरू हुई थी। जिसके बाद उम्मीद जागी थी कि तेज बारिश होगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं और न्यूनतम तापमान बढ़ गया। सुबह धूप खिली हुई थी और लोग उमस से परेशान नजर आ रहे थे। तभी अचानक शहर के आधे हिस्से में काले बादल दिखाई देने लगे और दोपहर होते-होते पुराने शहर में तेज बारिश का क्रम शुरू हो गया। जिससे लोगों ने राहत की सांस ली थी लेकिन उमस कम नहीं हुई थी। तेज बारिश की वजह से कई क्षेत्रों में नालियों का पानी सड़कों पर फैलने लगा था। मौसम विभाग के अनुसार शहर में रूक रूककर बारिश होती रहेगी। बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में बना सिस्टम शहर की ओर बढ़ रहा है। लेकिन तेजी के साथ आगे निकल रहा है। यही वजह है कि शहर में खंड बारिश आधे से पौन घंटे के लिए हो रही है। शहर में झमाझम बारिश के लिए सप्ताहभर का इंतजार करना पड़ सकता है।
किसानों को मिली राहत
खंड बारिश की वजह से किसानों के चेहरों पर रौनक नजर आने लगी है। जुलाई माह का प्रथम सप्ताह सूखा बीतने के बाद किसानों के चेहरे मुरझा गए थे। जून माह में हुई बारिश के बाद किसानों ने मानसून की दस्तक का आगाज मानकर खेतों में सोयाबीन की फसल बो दी थी। मौसम विभाग ने भी अच्छी बारिश की उम्मीद जताई थी लेकिन उनके दावे सही साबित नहीं हुए थे और सूर्यदेव के तेवर तेज हो गए थे। दिन-रात का तापमान लगातार बढ़ता जा रहा था। खेतों की जमीन सूखने लगी थी। अगर खण्ड बारिश नहीं होती तो किसानों को दोबारा से बोवनी करना पड़ती।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!