Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
पर्यटन स्थल पर पर्यटकों की बढ़ती भीड़ लायेगी तीसरी लहर

नईदिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर का कहर कम होने और लॉकडाउन खुलते ही पर्यटन स्थल पर पर्यटकों की भीड़ बढ़ती जा रही है। संभावित तीसरी लहर की आशंका के बीच मनाली, मसूरी, शिमला से आई तस्वीर चिंता बढ़ाने वाला है। इन सबके बीच सरकार ने कहा है कि अगले 100 से 125 दिन काफी क्रिटिकल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉक्टर वीके पॉल ने कहा कि कोरोना को लेकर भारत में अगले 100 से 125 दिन काफी क्रिटिकल हैं।
उन्होंने कहा कि डब्ल्यूएचओ ने डेटा के आधार पर एनालाइज किया है। दुनिया तीसरी लहर की ओर बढ़ रही है। उन्होंने कहा डब्ल्यूएचओ के उत्तर और दक्षिण अमेरिकी क्षेत्रों को छोड़कर, अन्य सभी डब्ल्यूएचओ क्षेत्र अच्छे से बुरे और बुरे से बदतर की ओर बढ़ रहे हैं। दुनिया तीसरी लहर की ओर बढ़ रही है और यह एक सच्चाई है। डॉ. वीके पॉल ने कहा कि डब्ल्यूएचओ की चेतावनी ग्लोबल है। उसे हमें समझना है और जो टूल हैं उन्हें अपनाना है। अभी देश मे हर्ड इम्युनिटी नहीं है। सिचुएशन कंट्रोल में है, लेकिन स्थिति कभी भी बिगड़ सकती है। उधर सरकार की तरफ से बताया गया कि 15 जुलाई को समाप्त हुए सप्ताह में 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 47 जिलों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि होने की दर 10 प्रतिशत से अधिक रही। सरकार ने कहा कि 14 जुलाई को खत्म हुए सप्ताह में 73 जिलों में प्रतिदिन 100 से अधिक नये मामले सामने आए।
सरकार ने कहा कि कोविड-19 के प्रतिदिन के मामलों में धीमी कमी देश के लिए यह चेतावनी है कि स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन यदि कोविड से जुड़े नियमों का अनुपालन नहीं किया गया तो स्थिति बिगड़ सकती है। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल ने कहा हमारे टीके प्रभावकारी हैं और बहुत सुरक्षित हैं तथा पहले से किसी अन्य बीमारी से ग्रसित लोगों, गर्भवती महिलाओं तथा स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अवश्य ही इसे लगवाना चाहिए। हालांकि हम पूरी तरह से टीकों के भरोसे नहीं रह सकते हैं। सरकार ने कहा कि 15 जुलाई को समाप्त हुए सप्ताह में 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 47 जिलों में कोविड-19 पॉजिटिविटी दर 10 प्रतिशत से अधिक दर्ज की गई। इनमें मणिपुर, केरल, राजस्थान, मेघालय, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा, असम, महाराष्ट्र और पुडुचेरी शामिल हैं।