Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

कारगिल विजय दिवस: पूर्व सेनाध्यक्ष मलिक बोले- हमें मिलनी चाहिए थी पाकिस्तानी इलाकों पर कब्जे की इजाजत

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

नईदिल्ली। पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल वीपी मलिक ने कहा है कि कारगिल में सीजफायर से पहले सुरक्षाबलों को एलओसी के पास पाकिस्तानी इलाकों को कब्जा करने की अनुमति दी जानी चाहिए थी। साल 1999 में भारत-पाकिस्तान के बीच हुए युद्ध के 22 साल बाद मलिक ने कहा कि ऑपरेशन विजय राजनीतिक, सैन्य और राजनयिक रूप से दृढ़ कार्रवाई थी, जिसने हमें खराब स्थिति को भी मजबूत सैन्य और राजनयिक जीत में बदलने में मदद की। जबकि पाकिस्तान को राजनीतिक और सैन्य स्तर पर इसकी बड़ी कीमत चुकानी पड़ी। पूर्व सेनाध्यक्ष ने कहा कि भारतीय सेना ने खराब इंटेलीजेंस और अपूर्ण सर्विलांस के आधार पर स्थिति का अंदाजा लगाने और उचित कार्रवाई करने में थोड़ा वक्त लिया। हालांकि रणभूमि पर सैन्य जीत और सफल राजनीतिक-सैन्य रणनीति के जरिए भारत अपने राजनीतिक लक्ष्य हासिल करने में सफल हुआ। इसके साथ ही भारत ने दुनिया में अपनी लोकतांत्रिक, जिम्मेदार और दृढ़ छवि बनाई।
मलिक ने कहा कि जब युद्ध शुरू हुआ, हम पाकिस्तान द्वारा बनाई गई सरप्राइज सिचुएशन पर जवाब दे रहे थे। इंटेलीजेंस और सर्विलांस में असफल होने के कारण सरकार के भीतर घुसपैठियों की पहचान को लेकर काफी भ्रम था। हमारी फ्रंटलाइन घुसपैठ का पता लगाने में असफल रही और उनके ठिकानों के बारे में कोई सुराग नहीं था। इसलिए पर्याप्त जानकारी हासिल करना, स्थिति को स्थिर करना और फिर से पहल करना जरूरी हो गया।

%d bloggers like this: