Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

पीथमपुर से लौटी टीम आज न्यायालय में पेश करेगी आरोपी
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

नकली नोट मामले में 2 दिन की रिमांड पर लिए गए आरोपी की निशानदेही पर पीथमपुर से 21 हजार नोट और बरामद किए गए हैं। आज रिमांड अवधि खत्म होने पर उसे दोपहर बाद न्यायालय में पेश किया जाएगा। अब तक पुलिस 40 हजार के नोट बरामद कर चुकी है।
21 जुलाई को विराटनगर में रहने वाले सुरेश पाल ने उधारी के बदले दिए गए नकली नोट मामले की शिकायत चिमनगंज थाने पहुंचकर दर्ज कराई थी। पुलिस ने नकली नोट देने वाले बृजेश शर्मा निवासी विष्णुपुरा को गिरफ्तार कर 19 हजार के नोट बरामद किए थे। नकली नोट उसने पीथमपुर के लखन भाटी सैलाना बताया था। बृजेश को जेल भेजने के बाद पुलिस ने लखन को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर 2 दिन की रिमांड पर लिया था। पूछताछ में लखन ने घर में ही कलर प्रिंटर से नकली नोट आपने की बात कबूल की। एस आई यादवेंद्र परिहार अपनी टीम के साथ आरोपी को पीथमपुर लेकर पहुंचे। उसके घर से प्रिंटर बरामद किया गया वही 21 हजार के नकली नोट और जप्त किए गए। अब तक 40 हजार के नोट बरामद किए जा चुके हैं। आज आरोपी का रिमांड खत्म हो रहा है जिसे दोपहर बाद न्यायालय में पेश कर जेल भेजा जाएगा।
तीन साल से छाप रहा था नोट
आरोपी ने 2018 से नकली नोट छापने की बात कबूल की है। पूछताछ में उसने बताया कि नोट छापने के बाद वह चला नहीं पाया था। उसने 19 हजार के नोट बृजेश को दिए थे। पुलिस के अनुसार नकली नोट छापने वाला लखन पूछताछ में बरगलाने का काम भी कर रहा था। सख्त पूछताछ में उसने नोट घर में ही छापने की बात कबूल की है। फिलहाल यह सामने नहीं आ पाया है कि उसने कितने नोट छापे थे और कहां चलाएं हैं। नकली नोट का मामला सामने आने के बाद मामले में मामले धारा 420, 489 ए, 489 बी, 489 सी, 506 में केस दर्ज किया गया था।
9 जुलाई को दिए थे नोट
गौरतलब हो कि विराटनगर में रहने वाले फर्नीचर व्यवसाई सुरेश पाल ने बृजेश शर्मा को 6 माह पहले 60 हजार रुपये उधार दिये थे। वापस मांगने पर बृजेश ने किश्त में पैसे लौटने की बात कहीं और 9 जुलाई को बीमा अस्पताल चौराहा पर साढ़े चार हजार की पहली किश्त नकली नोट के रुप में दी। सुरेश को नोट एक ही नम्बर के दिखे तो उसने थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज कराई थी।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!