Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

शासकीय कार्यालयों में तालाबंदी, मांगों को लेकर हड़ताल पर कर्मचारी

जिला अस्पताल में मरीजों को नहीं मिल पाया उपचार, अन्य विभागों के भी हुए कार्य प्रभावित
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

तीन सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश के शासकीय विभागों के अधिकारी और कर्मचारी क्रमबद्ध आंदोलन कर रहे हैं। आज आंदोलन के तीसरे चरण में शहर के सभी शासकीय विभागों में तालाबंदी नजर आई। जिला अस्पताल में हड़ताल के चलते मरीजों को उपचार नहीं मिल पाया।
म.प्र. अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के जिलाध्यक्ष मानसिंह चौहान ने बताया कि विगत दो वर्ष से प्रदेश सरकार ने कर्मचारियों को उनका हक नहीं दिया है। कोरोनाकाल में कर्मचारियों ने अपनी जान की परवाह किये बिना अपने कर्तव्य का निर्वाह किया। बावजूद इसके वर्ष 2020 व 2021 की वेतन वृध्दि देय दिनांक से एरियर सहित, 16 प्रतिशत महंगाई भत्ता, देय दिनांक से एरियर सहित, पदोन्नति प्रक्रिया अब तक प्रारंभ नहीं की गई है। आंदोलन के प्रथम और द्वितीय चरण में आश्वासन मिला है। जिसके चलते तीसरे चरण में शासकीय कर्मचारियों द्वारा आज सामूहिक अवकाश लेकर तालाबंदी की गई है। अगर अब भी प्रदेश सरकार कर्मचारियों और अधिकारियों की मांगों पर ध्यान नहीं देगी तो आगामी दिनों में अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी। दोपहर में कर्मचारी संघ के नेतृत्व में सुभाषराव अवाड़, मोतीलाल निर्मल, सुरेन्द्रसिंह चौहान, अनोखीलाल भारती, देवेन्द्र व्यास, अनिल नामदेव, शशि टायटस, लक्ष्मीनारायण गुप्ता, प्रेमचंद नाहर, कैलाश रामटेके, नरेश आठिया, कैलाश गोस्वामी, अरविंदसिंह चंदेल, डॉ. जीजी गोस्वामी, संजय मिश्रा, हितेन्द्र खत्री, प्रमोद प्रजापति, दिग्विजयसिंह चौहान, भरत शर्मा, रजनीश कोरी, हेमतं,गोयल, राजेश सिसौदिया, मनीष धवन, संगीता शर्मा, सोनू भावसार, कैलाश सिसौदिया, देवेन्द्र गोठवाल, मनीष लोट आदि ने टॉवर चौक पर एकत्रित होकर मांगों के समर्थन में प्रदर्शन किया। आज की गई तालाबंदी में मंत्रालय कर्मचारी संघ, कर्मचारी कांग्रेस, तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ, लिपिक वर्गीय संघ, लघुवेतन संघ, राजपत्रित कर्मचारी संघ, राज्य कर्मचारी संघ, अजाक्स, अपाक्स, सपाक्स, वन, महिला बाल विकास, स्वास्थ्य विभाग, पटवारी, ग्राम सेवक, राजस्व संघ, पंचायतकर्मी संघ, न्यायालयीन कर्मचारी संघ, पशु चिकित्सा, निगम मंडल, आईटीआई, हैंडपंप मैकेनिक, प्रधानाध्यापक संघ, अध्यापक संघ, आजाद अध्यापक संघ, नियमित शिक्षक संघ के कर्मचारी शामिल हुए हैं।
जिला अस्पताल में मरीज होते रहे परेशान
तीन सूत्रीय मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर गए कर्मचारियों में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी भी शामिल हैं। आज जिला अस्पताल में कर्मचारियों, नर्सों और स्टॉफ ने कामबंद हड़ताल कर तालाबंदी कर दी थी। जिसके चलते सुबह से उपचार के लिए ओपीडी में पहुंचने वाले मरीजों को परेशान होना पड़ा। ओपीडी के साथ ही रोगी कल्याण समिति, आरएमओ कार्यालय पर ताले लगा दिए गए थे। इमरजेंसी में गंभीर मरीजों को देखा जा रहा था। सामान्य मरीजों को उपचार नहीं मिलने पर उन्हें निजी अस्पतालों का रूख करना पड़ा। कामबंद हड़ताल में डॉक्टर शामिल नहीं थे लेकिन उन्होंने कर्मचारियों को बाहर से समर्थन दे रखा था।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
%d bloggers like this: