Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

आखिरकार शिकायतों के बाद केंद्रीय जेल भैरवगढ़ के जेलर को किया भोपाल अटैच


माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन जेल महानिदेशक के निरीक्षण के 24 घंटे बाद ही केंद्रीय जेल भैरवगढ के जेलर को भोपाल अटैच कर दिया गया है। सप्ताह भर पहले जेलर की गोपनीय शिकायत के बाद जेल में उनके द्वारा की जा रही अनियमितताओं के कई मामले सामने आए थे।
जहरीली शराब कांड में आरोपी बनाई गई महिला ने जमानत पर रिहा होने के बाद जेलर संतोष लडिय़ा की गोपनीय शिकायत प्रदेश के मुख्यमंत्री गृहमंत्री से लेकर स्थानीय अधिकारियों को की थी। जेलर पर ज्यादती के साथ मानसिक प्रताडऩा के आरोप लगाए गए थे। महिला ने जेलर के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए पुलिस अधीक्षक को भी आवेदन सौंपा था। जेलर की शिकायत का मामला समाचार पत्रों के माध्यम से सामने आया तो जेल से रिहा हुए कई लोगों ने जेलर की कारगुजारीयों को उजागर करना शुरू कर दिया था। मंगलवार को जेल महानिदेशक अरविंद कुमार अचानक निरीक्षण पर केंद्रीय जेल भेरूगढ़ पहुंचे थे। उस दौरान उन्होंने अपने तरीके से निरीक्षण किया और सभी सुविधाएं बेहतर होने की बात कही। लेकिन उनके भोपाल मुख्यालय लौटते ही 24 घंटे बाद बीती शाम जेलर संतोष लडिय़ां को मुख्यालय अटैच करने के आदेश जारी कर दिए गए। जेलर के खिलाफ विभागीय जांच शुरू की गई है
शिकायतों के बाद मचा था बवाल
जहरीली शराब कांड में न्यायालय के आदेश पर जेल भेजी गई महिला की हाई कोर्ट से जमानत होने के बाद उसने गोपनीय शिकायत में अपने साथ ज्यादती का आरोप जेलर और जेल वार्ड प्रभारी सुनीता चौहान पर लगाया था। शिकायत में लेन देन के साथ बंधुओं को नशीला पदार्थ से लेकर जरूरी सामान के लिए मांगे जाने वाले पैसों का भी उल्लेख किया गया था। जेल की अनियमितताएं और जेलर के जेल वार्ड प्रभारी से घनिष्ठ संबंधों की बात भी शिकायत में लिखी गई थी। महिला द्वारा की गई शिकायत के बाद आजीवन कारावास की सजा काट चुके अनिल सिंह ने भी शिकायत कर जेलर पर आरोप लगाए थे वही भ्रष्टाचार अधिनियम में जेल गए आदर्श सिंह ने भी जेलर की कारगुजारी का खुलासा किया था। एक के बाद एक शिकायत सामने आने से जेल की कार्यशैली पर उंगलियां उठने लगी थी बवाल मच गया था।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
%d bloggers like this: