Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

टोक्यो। भारत की महिला हॉकी टीम का टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने का सपना टूट गया। ब्रॉन्ज मेडल मैच में ग्रेट ब्रिटेन ने भारत को 4-3 से हरा दिया। कड़े मुकाबले में भारतीय महिला टीम ने शानदार खेल दिखाया और दूसरे क्वार्टर में 3-2 की बढ़त बना ली थी। हालांकि, टीम इस बढ़त को कायम नहीं रख सकी और ब्रिटेन ने तीसरे और चौथे क्वार्टर में 15 मिनट के अंदर 2 गोल दाग 4-3 से मैच जीत लिया।
टीम इंडिया ने इस पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया और पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाकर इतिहास रच दिया था। टीम इससे पहले सिर्फ 2 बार ओलिंपिक खेली है। 1980 में टीम टॉप-4 में पहुंची थी। उस वक्त सेमीफाइनल फॉर्मेट नहीं था। वहीं 2012 रियो ओलिंपिक में टीम 12वें स्थान पर रही थी। 2-0 से पिछडऩे के बाद भारतीय टीम ने दूसरे क्वार्टर में जबरदस्त वापसी की थी और 4 मिनट के अंदर 3 गोल दागे। गुरजीत कौर ने 25वें और 26वें मिनट में गोलकर पहले स्कोर 2-2 से बराबर किया। इसके बाद वंदना कटारिया ने 29वें मिनट में गोलकर टीम इंडिया को लीड दिला दी थी। इसके बाद तीसरे क्वार्टर में ब्रिटेन की पियर्ने वेब ने 35वें मिनट में गोल कर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया था। पहले क्वार्टर में दोनों टीमों ने अटैकिंग हॉकी खेली। ग्रेट ब्रिटेन ने मैच के दूसरे मिनट में ही पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया। भारत की गोलकीपर सविता पूनिया ने इसका अच्छा बचाव किया। ब्रिटेन ने 10वें मिनट में दूसरा पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया। भारतीय गोलकीपर सविता पूनिया ने फिर से शानदार बचाव कर ब्रिटेन के इस पेनाल्टी कॉर्नर को भी नाकाम कर दिया। पहले क्वार्टर में जहां ब्रिटेन हावी रही थी, वहीं दूसरे क्वार्टर में टीम इंडिया इंडिया हावी रही। उसने इस क्वार्टर में तीन गोल किए और ब्रिटेन पर 3-2 की बढ़त बनाई। ब्रिटेन की ओर से एली रायर ने 16वें मिनट और सारा रॉबर्टसन ने 24वें मिनट में गोल कर ब्रिटेन को बढ़त दिला दी थी। इसके बाद भारत ने 3 गोल किए।
हाफ टाइम तक 3-2 का ही स्कोर रहा था। तीसरे क्वार्टर में भी ब्रिटेन ने आक्रामक शुरुआत की थी। उसने 32वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया। भारतीय डिफेंडर मोनिका ने इस पर शानदार बचाव किया। इसके बाद ब्रिटेन की वेब ने गोलकर स्कोर 3-3 से बराबर कर दिया। भारत को तीसरे क्वार्टर में पेनल्टी कॉर्नर भी मिला, लेकिन गुरजीत कौर इस पर गोल करने में असफल रहीं। चौथे क्वार्टर में ब्रिटेन ने एक और गोल कर मैच अपने नाम कर लिया।
पीएम मोदी ने हॉकी टीम की तारीफ की


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिला हॉकी टीम के प्रदर्शन की तारीफ की है। उन्होंने कहा- हम ओलिंपिक में हमेशा अपने महिला खिलाडिय़ों के परफॉर्मेंस को याद रखेंगे। उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में अपना बेस्ट दिया। महिला हॉकी टीम का हर खिलाड़ी हिम्मत, आत्मविश्वास और स्किल से भरा है। भारत को अपनी महिला हॉकी टीम पर गर्व है।
हरियाणा सरकार 9 हॉकी खिलाडिय़ों को देगी 50-50 लाख
टोक्यो ओलिंपिक में शानदार प्रदर्शन करने पर भारतीय महिला हॉकी टीम के लिए हरियाणा सरकार ने बड़ा ऐलान किया है। प्रदेश से टीम में खेल रही सभी 9 बेटियों को 50-50 लाख का नकद पुरस्कार देने की घोषणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की है। हरियाणा की 9 खिलाडिय़ों में शाहाबाद की कप्तान रानी रामपाल, नवजोत कोर, नवनीत कौर, सोनीपत जिले से मोनिका मलिक, नेहा गोयल, निशा व हिसार से शर्मिला गोदारा, उदिता दुहन और सिरसा से सविता पुनिया शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि टोक्यो ओलिंपिक में ब्रिटेन के खिलाफ ब्रॉन्ज मेडल का मैच खेलते हुए भले ही बेटियां हार गई हों, पर उनका प्रदर्शन जबरदस्त रहा। झांसी की रानी की तरह लड़ी बेिटयां। खिलाडिय़ों का जोश खेलने से ही दिख रहा था। ब्रिटेन टीम पर पलटवार करते हुए म्हारी छोरियों ने पसीने छुड़ाए रखे और क्या चाहिए। भारतीय महिला हॉकी टीम ने सेमीफाइनल तक पहुंचकर इतिहास रचा है। इसके लिए टीम को और सभी खिलाडिय़ों को बहुत-बहुत बधाई।