Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
मध्यप्रदेश में लाभार्थियों से प्रधानमंत्री मोदी ने की बात



नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को मध्यप्रदेश के उन लाभार्थियों से बात की जिन्हें प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत लाभ मिल रहा है। इस दौरान लोगों की जीविका से जुड़े सवाल करते हुए प्रधानमंत्री ने शिक्षा पर जोर दिया और कहा कि टोक्यो ओलिंपिक का जिक्र किया और कहा कि गरीब घरों की बेटियां भी हैं जो देश का मान बढ़ा रहीं हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री ने सौ साल में आई महामारी की आपदा से निपटने के लिए बनाई गई देश की रणनीति में गरीबों को सर्वोच्च प्राथमिकता मिलने की बात कही। प्रधानमंत्री ने कहा, उत्सवों के उत्साह के बीच हमें कोरोना को नहीं भूलना है। कोरोना की तीसरी लहर को आने से हमें ही रोकना है। मास्क, टीका और दो गज की दूरी, ये बहुत जरूरी है। हमें स्वस्थ भारत का संकल्प लेना है, समृद्ध भारत का संकल्प लेना है। पहले की सरकारी व्यवस्था को जर्जर बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले के सिस्टम में गरीब के बारे में सवाल भी खुद पूछते थे और जवाब भी खुद ही देते थे। जिस तक लाभ पहुंचाना है, उसके बारे में पहले सोचा ही नहीं जाता था। आजीविका पर दुनियाभर में आए इस संकट काल में ये निरंतर सुनिश्चित किया जा रहा है कि भारत में कम से कम नुकसान हो। इसके लिए बीते साल में अनेक कदम उठाए गए है और निरंतर उठाए जा रहे है।
प्रधानमंत्री ने कहा, आपदा कोई भी हो, उसका असर बहुत व्यापक होता है, दूरगामी होता है। कोरोना के कारण पूरी मानवता पर 100 साल में सबसे बड़ी आपदा आई
कोरोना से उपजे संकट से निपटने के लिए भारत ने अपनी रणनीति में गरीब को सर्वोच्च प्राथमिकता दी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना हो या फिर प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार योजना, पहले दिन से ही गरीबों और श्रमिकों के भोजन और रोजगार की चिंता की गई। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के लाभार्थियों से बातचीत करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, इस संकटकाल में सरकार से जो मुफ्त अनाज मिला हर परिवार के लिए यह राहत है। लोगों से बातचीत में यह संतोष दिखा।
वन नेशन वन राशन कार्ड का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, कोरोना से बने हालात में भारत आज जितने मोर्चों पर एक साथ निपट रहा है, वो हमारे देश के सामर्थ्य को दिखाता है। आज दूसरे राज्यों में काम कर रहे श्रमिकों की सुविधा के लिए वन नेशन-वन राशन कार्ड की सुविधा दी जा रही है। प्रधानमंत्री ने कोरोना वैक्सीनेशन का भी जिक्र किया और कहा कि भारत ने 50 करोड़ वैक्सीन डोज लगाने के बहुत अहम पड़ाव को पार किया है। दुनिया में ऐसे अनेक देश हैं, जिनकी कुल जनसंख्या से भी अधिक टीके भारत एक सप्ताह में लगा रहा है। ये नए भारत का, आत्मनिर्भर होते भारत का नया सामर्थ्य है।’

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!