Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

रात 12 बजे खुलेंगे पट, नाग पंचमी कल
आम श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रहेगा प्रतिबंध, ऑनलाइन लाईव करना होंगे दर्शन
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

विश्व प्रसिद्ध बाबा महाकालेश्वर मंदिर के शिखर पर बने नागचंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पट आज रात 12 बजे त्रिकाल पूजा के साथ 24 घंटे के लिए खोल दिए जाएंगे। नागचंद्रेश्वर मंदिर साल भर में एक बार नाग पंचमी के दिन खोला जाता है। कल नाग पंचमी का पर्व मनाया जाएगा।
नाग पंचमी पर महाकाल मंदिर के शिखर पर बने नागचंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पट साल में एक बार पूजा अर्चना और दर्शन के लिए खोले जाते हैं। आज रात 12:00 बजे मंदिर के पट खुलेंगे और पूजा-अर्चना भी होगी। लेकिन आम श्रद्धालु के दर्शन प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा। रात 12:00 बजे महानिर्वाणी अखाड़े के महंत विनीत गिरी महाराज पूजा-अर्चना करेंगे। उसके बाद दिनभर में शासकीय पूजा के साथ तीन बार पूजा अर्चना की जाएगी। शुक्रवार रात 12:00 बजे फिर से त्रिकाल पूजा होगी और मंदिर के पट 1 साल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। इस बार भी कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते आम श्रद्धालुओं को नागचंद्रेश्वर मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। दर्शन व्यवस्थााा ऑनलाइन की गई है। मंदिर मेंं सिर्फ पूजा अर्चना के लिए पंंडित पुजारी और प्रशासनिक अधिकारी ही उपस्थित रहेंगे। पिछलेे वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते आम श्रद्धालु दर्शन नहींं कर पाए थे। प्रतिवर्ष नागपंचमी पर देश विदेश से लाखों श्रद्धालु दर्शन के लिए धार्मिक नगरी में आतेे हैं, लेकिन कोरोना गाइडलाइन के चलते इस बार उन्हें साक्षात दर्शन नहीं हो पाएंगे। नागचंद्रेश्वर मंदिर में 11 वीं शताब्दी की अद्भुत प्रतिमा स्थापित है जो नेपाल से लाई गई थी। प्रतिमा में नागचन्द्रेश्वर स्वयं अपने सात फनों से सुशोभित है साथ में शिव पार्वती के दोनों वाहन नंदी एवं सिंह भी विराजित है। प्रतिमा में श्री गणेश की ललितासन मूर्ति, उमा के दांयी ओर श्री कार्तिकेय की मूर्ति व उपर की ओर सूर्य-चन्द्रमां भी अंकित है। दर्शन मात्र से श्रद्धालुओंं की हर मनोकामना पूरी हो जाती है।
प्री बुकिंग पर होंगे महाकाल दर्शन
मंदिर समिति और जिला प्रशासन ने नाग पंचमी पर महाकाल दर्शन की व्यवस्था लागू की है। फ्री बुकिंग कराने वाले श्रद्धालुओं को तय समय में प्रवेश दिया जाएगा। वह बाबा महाकाल के दर्शन कर सकेंगे लेकिन नागचंद्रेश्वर महादेव के दर्शन उन्हें ऑनलाइन ही करना होंगे। मंदिर में प्रवेश करने से पहले वैक्सीनेशन या कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट बताना होगी। मंदिर में प्रवेश के दौरान मार्क्स लगाने के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। मंदिर समिति ने नागचंद्रेश्वर दर्शन के लिए मंदिर की वेबसाइट के साथ टीवी चैनल और सोशल मीडिया के माध्यम से सीधा प्रसारण करने की व्यवस्था की है।
शहर के मंदिरों में होगी पूजा अर्चना
नाग पंचमी पर्व पर शहर के अन्य महादेव मंदिरों में भी पूजा अर्चना के साथ दिनभर धार्मिक अनुष्ठान जारी रहेंगे। महादेव मंदिरों को सजाया गया है। प्रशासन ने शहर के मंदिरों में आने वाले श्रद्धालुओं को भी कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए हैं। कल दिनभर शिव मंदिरों में नाग पंचमी की धूम बनी रहेगी। वही घरों में भी पूजा-अर्चना होगी। प्रशासन ने नाग पंचमी पर सांप लेकर घूमने वालों पर प्रतिबंध लगाया है। एक टीम ऐसे लोगों पर अपनी नजर बनाए रखेगी।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!