Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

नईदिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुई है और इस बीच, तीसरी लहर की आशंका जताई गई है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान यानी एनआईडीएम ने पीएमओ और केंद्रीय गृह मंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट में कहा है कि अक्टूबर में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। उस दौरान एक दिन में 5 लाख तक केस सामने आ सकते हैं। हालांकि इसकी असर एक महीन तक ही रहेगा। रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना की तीसरी लहर का बच्चों और बड़ों पर समान रूप से असर होगा। रिपोर्ट मिलने के साथ ही सरकार अलर्ट हो गई है और जरूरी उपायों पर मंथन किया जा रहा है।
रिपोर्ट में बताया गया है कि इस स्थिति में देश में मेडिकल स्टाफ, डॉक्टर्स, नर्सेस, एम्बुलेंस, ऑक्सीजन के साथ ही दवाओं और मेडिकल उपकरणों की किस तरह व्यवस्था करना होगी। साथ ही सलाह दी गई है कि देश में अब बच्चों के टीकाकरण पर तेजी से काम शुरू किया जाना चाहिए। खासतौर पर कोविड वार्ड बनाए जाएं जहां बच्चों को भी रखा जा सके। रिपोर्ट के मुताबिक, अच्छी बात यह है कि कोरोना की तीसरी लहर, दूसरी लहर जितना घातक नहीं होगी। अक्टूबर माह त्योहारों के लिहाज से बहुत अहम है। इसी महीने में शक्ति की आराधना का पर्व नवरात्र मनाया जाएगा और दशहरा भी इसी समय है। पंचांग के मुताबिक, 12 अक्टूबर के महा सप्तमी, 14 अक्टूबर को महा नवमी और 15 अक्टूबर को दशहरा है। यानी कोरोना की तीसरी लहर आती है तो इन त्योहारों पर पानी फिर जाएगा।