Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

रात में हुई 28.4 मिलीमीटर वर्षा, बंगाल की खाड़ी में बना सिस्टम

अभी भी 13 इंच की और दरकार, गंभीर डेम का भी बढ़ा जल स्तर
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

मानसून में एक बार किस शहर में दस्तक दी है। रात को उनके बारिश के दिन जीवाजीराव वेधशाला पर 28.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है। तेज बारिश की वजह से गंभीर डेम का जल स्तर भी बढ़ा है।
वर्षा काल को एक माह का समय शेष बचा है। अब तक रुक रुक कर ही बारिश होती रही है। मानसून तीन बार ब्रेक लेने के बाद एक बार फिर लौट आया और रात 10:00 बजे तेज बारिश शुरू हुई। करीब 45 मिनट तक बारिश होने के बाद रिमझिम का दौर रात भर जारी रहा। आज सुबह जीवाजीराव वेधशाला पर 28.4 मिली मीटर वर्षा दर्ज की गई है। रात में हुई 1 इंच से अधिक बारिश के बाद औसतन आंकड़ा 23 इंच को पार कर चुका है। मौसम विभाग की माने तो उज्जैन में अब तक 599 मिली मीटर, घटिया में 814, खाचरोद में 741, नागदा में 876, बडऩगर 684, महिदपुर 917, तराना 888 और झारडा 1004 मिली मीटर बारिश में भीग चुका है।
शहर में 2-3 जून की रात बारिश ने दस्तक दी थी और 23 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई थी। उसके बाद रुक-रुककर बारिश का क्रम चलता रहा। जून माह गुजरने के बाद शहर में मात्र 6 इंच के करीब वर्षा दर्ज हो पाई थी। 31 जुलाई तक जीवाजीराव वेधशाला के आकड़ों के मुताबिक 14 इंच बारिश हो चुकी थी। 28 अगस्त तक 22 इंच बारिश शहर में हो चुकी थी। दो माह के वर्षाकाल में एक बार भी ऐसा प्रतीत नहीं हुआ के शहरवासियों ने झमाझम का दौर देखा हो। इस बार फिर से बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना है जिसके चलते मानसून लौट आया है। मौसम विभाग की माने तो कुछ दिन बारिश होती रहेगी। आज सुबह भी आसमान में बादल छाए हुए थे। शहर में औसतन बारिश का आंकड़ा 36 इंच है जिसमें अभी 13 इंच की दरकार बनी हुई है।
गंभीर डेम का बढ़ा जलस्तर
देर रात हुई बारिश के बाद गंभीर डेम के केचमेंट एरिया में जमा हुआ पानी गंभीर डेम का रुख कर चुका था। जिसके चलते डैम का लेवल 410.980 एमसीएफटी पहुंच गया। पिछले 24 घंटे में 28 एमसीएफटी पानी की आवक हुई है। डैम की क्षमता 2250 एमसीएफटी है। जो अब तक क्षमता का 20 प्रतिशत ही भर पाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: