Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन
शहर में नगर निगम की कचरा गाड़ी खुले में कचरा लेकर मुख्य मार्गों पर दौड़ रही है। सूखे व गीले कचरे एक साथ होने के कारण चलती गाड़ी से जहां-तहां सड़क पर कचरा गिरता जाता है। वहीं, कचरे से तेज बदबू उठने के कारण राह चलते लोग नाक बंद करने को विवश हो जाते हैं। इससे संक्रमण का भी खतरा बढ़ गया। शहर में वैसे भी इन दिनों डेंगू का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। ऐसे में संक्रमण फैलने से इंकार नहीं किया जा सकता है।
नगर निगम की गाडिय़ां सुबह के समय जब सूखा और गीला कचरा एक साथ लेकर सड़क पर दौड़ती हैं, तब यह नजारा आसानी से देखा जा सकता है। नियमानुसार विभिन्न वार्डों के नालियों, सार्वजिनक स्थानों, सड़क किनारे जमे सूखे व गीले कचरे को अलग-अलग छोटी और बड़ी गाडिय़ों से ले जाकर सकरी में डंप करना होता है, लेकिन निगम के कर्मचारी ऐसा नहीं करते। दोनों तरह के कचरे को एक साथ गाड़ी में डालकर बगैर तिरपाल से ढंके तेज रफ्तार से सड़क से निकलते हैं। ब्रेकर आने पर गाड़ी उछलने से जगह-जगह बदबूदार कचरा गिरता है। लोगों का कहना है कि कोरोना महामारी के बीच निगम की बिना तिरपाल ढंके कचरा गाड़ी जब शहर के मुख्य मार्गों से होकर गुजरती है, तब ब्रेक लगने या गड्ढे में वाहन फंसने पर पीछे चल रहे लोगों पर गंदगी गिर जाती है। शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।
लाखों खर्च पर नहीं सुधरी व्यवस्था
साफ-सफाई और कचरा कलेक्शन में निगम प्रशासन हर महीने लाखों रुपये खर्च कर रही हैं। बावजूद इसके कचरा लोगों को मुंह पर ही पड़ रहा है। कचरा गाड़ी कचरे को बिना ढके ले जाते हैं। खुले में जा रहा कचरा उड़ता हुआ पीछे चलने वाले वाहन चालक और राहगीरों के मुंह पर आता है। वाहन कचरा उठाने के साथ रास्ते में फैलाते हुए भी जा रहे हैं, जबकि बार-बार कचरे को ढंककर ले जाने के निर्देश दिए जाते हैं, लेकिन न तो कर्मचारी न ही वाहन चालक इस तरफ ध्यान देते हैं। प्रशासन की ओर से सभी वार्डो से डोर टू डोर कूड़ा उठाया जाता है। सफाई कर्मचारी छोटे वाहन या ट्राली लेकर गली-गली जाते हैं। इसके बाद एक जगह कूड़े को एकत्र किया जाता है। यहां से बड़े वाहनों पर कूड़ा लादकर ट्रेचिंग ग्राउण्ड तक ले जाया जाता है। शहर में कई कॉलोनियों के हालात ऐसे हैें कि यहां कचरा वाहन ही नहीं पहुंचते हैं जिसके चलते लोग नालियों में कचरा फेंक आते हैं। इन दिनों रूक-रूककर हो रही बारिश में चोक होती नालियां इस बात की कहानी बयां कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *