Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

महंत नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट विवाद पर मामा ने कहा- अनपढ़ नहीं थे, 10वीं तक की थी पढ़ाई

प्रयागराज। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के सुसाइड नोट को लेकर बड़ा खुलासा किया है। महंत नरेंद्र गिरि के मामा प्रो. महेश सिंह ने कहा है कि महंत नरेंद्र गिरी पढ़े लिखे थे। वे पढऩा-लिखना दोनों जानते थे। प्रो. महेश सिंह के मुताबिक 1978 में सरयू प्रसाद इंटर कालेज आमीपुर गिर्दकोट हंडिय़ा प्रयागराज से उन्होंने 10वीं पास की थी। उनके मामा प्रो महेश सिंह के मुताबिक नरेंद्र गिरि ने हाई स्कूल की परीक्षा उनके साथ ही रहकर स्कूल से की थी। जब वे इंटर की पढ़ाई कर रहे थे तभी उनकी बैंक में नौकरी लगी और उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी। उन्हें धार्मिक ग्रंथ भी पढऩा आता था। वे रामायण भी पढ़ते थे।
प्रो. महेश सिंह ने कहा कि जो लोग कई दिन से कह रहे हैं कि उन्हें पढऩा लिखना नहीं आता था वे सरासर गलत हैं। पिछले तीन दिनों से यह इसे सुनकर आहत हूं। उन्हें पढऩा भी आता था और लिखना भी आता था। प्रो. महेश सिंह ने कहा कि उनकी राइटिंग जरूर खराब थी। महेश सिंह ने कहा कि जो लोग उनके सुसाइड नोट पर सवाल खड़े कर रहे हैं उन्हें सच नहीं मालूम है। हालांकि उन्होंने कहा कि वे महंत नरेंद्र गिरी हैंड राइटिंग नहीं पहचानते। महेश सिंह ने कहा कि जब उनकी शादी की बात चल रही थी तो वे अचानक से गायब हो गए। इसके बाद 2001 कुंभ में प्रयागराज आए तो कहीं से मेरा नंबर लेकर मुझे फोन किया और कहा मैं महंत नरेंद्र गिरि बोल रहा हूं। इस पर मैंने कहा कि मैं किसी नरेंद्र गिरि को नहीं जानता। फिर उन्होंने कहा कि मैं गुड्डू (बचपन का नाम) बोल रहा हूं। इसके बाद नरेंद्र गिरि ने बताया कि उन्होंने संन्यास ले लिया है और संन्यासी आखिरी प्रक्रिया के लिए मां और नानी की भिक्षा जरूरी है। जिसके बाद मैंने घर का रास्ता बताया और वे आए थे। प्रोफेसर महेश सिंह ने बताया कि उनकी उनसे अक्सर बात होती रहती थी। अभी 14 सितंबर को ही मेरी पुस्तक का विमोचन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से करवाने को लेकर हुई थी. उन्होंने कहा कि नरेंद्र गिरी समाजसेवी भी थे। वे गरीब बच्चों को पढऩे के लिए किताबें और फीस भी देते थे।
नरेंद्र गिरी आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई को, योगी सरकार ने की सिफारिश
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए बड़ा कदम उठाया है। उत्तर प्रदेश सरकार के गृह विभाग ने मामले की जांच के लिए केंद्र सरकार से सीबीआई जांच की सिफारिश की है। सूत्रों के मुताबिक आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए योगी सरकार इस मामले को जल्द सुलझाना चाहती है और निष्पक्ष जांच के लिए सीबीआई जांच की सिफारिश की गई है। महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में कई सवाल खड़े हो रहे हैं और संत समाज से जुड़े कई राजनेता और अन्य गणमान्य लोग भी इसे आत्महत्या मानने से इनकार कर रहे हैं। साथ ही सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: