Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

पुलिस पूरी तरह हो रही नाकाम तभी बेख़ौफ़ चल रहा है नगर में जुआ, सट्टा ओर हजरबल्ली का गोरखधंधा

ना पुलिस कप्तान की कमान , ना एसडीओपी का ख़ौफ़ , ना थाना प्रभारी का रौब , ना चिता पार्टी की रफ़्तार ओर नही सूचना संकलन का तंत्र
इन सभी को कहीं तराना पुलिस ओर सफेदपोश नेताओं का संरक्षण तो प्राप्त नही

तराना :- वर्तमान में तराना नगर में जुआ , सट्टा ओर हजरबल्ली का कारोबार बड़ा रूप लेता जा रहा है जिससे कितने ही घरों में रात को मारपीट होती है कितने ही घरों के बच्चे भूखे सो जाते हैं बावजूद इसके नगर में न तो जुए के अड्डे बंद हो रहे और नाहि सट्टे का अवैध कारोबार बन्द हो रहा है सट्टा , जुआ ओर हजरबल्ली का कारोबार के बारे में ऐसा भी नही है कि तराना पुलिस को इसकी ख़बर नही है दरअसल सूत्रों के हवाले से खबर है कि नगर के प्रमुख व्यस्तम बस स्टैंड , हाटपुरा , मंगलनाथ गली , महिदपुर नाका , झंडा चौक , इमली नीचे , उतारा चौराहा , बलाई बाखल कस्बा , महावीर पथ में एक निवास सहित कई स्थानों पर जुआ और सट्टा खुलेआम खेला जा रहा है खास बात तो यह है कि इनमें से कई स्थानों पर तो जुए , सट्टे ओर हजरबल्ली के अड्डे सुबह से ही शुरू हो जाते हैं जो देर रात तक चलते रहते हैं इन अड्डों पर सट्टा , जुआ ओर हजरबल्ली चलाने वाले संचालक का पूरा नियंत्रण रहता हैं इस प्रकार नगर में कई अड्डे पर दर्जनों की संख्या में जुआरी ओर सटोरी हर समय मौजूद रहते हैं सबसे हैरत ओर चोकाने वाली बात तो यह है की तराना पुलिस के नजरों के सामने ही कई जगह पूरे दिन जुआ ओर सट्टे का कारोबार खुलेआम होता हैं लेकिन फिर भी इन पुलिस अधिकारियों और इनके जवानों को खासतौर पर तराना पुलिस की चिता पार्टी और सूचना संकलन को यह गोरखधंधा नजर नही आता है दरअसल इन जवानों को यह गोरखधंधा नजर तो आता है लेकिन आर्थिक समझौते के आधार पर इन जुआरियों ओर सटोरियों पर किसी भी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं होती है नगर में कई जगह चलने वाले जुए ओर सट्टे के संचालन को इनके अपने-अपने संचालक चलाते है इन संचालकों की ही जिम्मदारी होती है कि वह पुलिस से इन खेलने वालों को संरक्षण दिलाएं इसके एवज में संचालकों को प्रत्येक जीतने वाला जुआरी से अपनी जीतने वाली रकम में से पूर्व निर्धारित हिस्सा (नाल) देना पड़ती है इन संचालको की पुलिस ओर इनके जवानों से इतनी अच्छी साठगांठ होती है कि इनको कोई भी परेशानी हो तो उसका हल ये पुलिस जवान और अधिकारी चुटकी बजाकर कर देते है यहाँ तक कि अगर हिम्मत करके कभी कभार पुलिस की दबिश इन अड्डों पर ढलती भइन्हे तो पुलिस की दबिश ढलने की सूचना पहले से ही इन जुआ , सट्टा संचालको को मिल जाती है और हर बार यह जुआरी , सटोरी ओर इनके संचालक बचकर निकल जाते है

क्या है इन जुआ , सट्टा ओर हजरबल्ली संचालकों को पुलिस का संरक्षण प्राप्त या फिर सफेदपोश नेताओं का

पुलिस की लापरवाही कहें या इनका संरक्षण लेकिन पूरे तराना क्षेत्र में यह जुआ , सट्टा ओर हजरबल्ली जोर पकड़ता जा रहा है जो भारी महामारी का रूप लेता जा रहा है विश्वसनीय सूत्र तो यह भी बताते है कि कई सफेदपोश नेताजी भी इस मामले में लिप्त हैं जो इस धंधे को चलाने में इन जुआरियों ओर सटोरियों की मदद करते है यहाँ तक कि कुछ सफेदपोश तो पुलिस से इन जुआरियों ओर सटोरियों की सेटिंग तक कराते है और इसकी एवज में यह सफेदपोश इनसे मोटी रकम तो लेते ही है इसके साथ – साथ शराब और कबाब की भी फ़रमाइश भी करते है ओर इनकी यह फ़रमाइशें यह जुआ , सट्टा संचालक पुरी भी करते है इसीलिए इस अवैध कारोबार पर किसी भी तरह की लगाम नहीं लग पा रही है

तराना पुलिस की चिता पार्टी और सूचना संकलन सभी पूरी तरह विफ़ल

सूत्रों के मुताबिक हर एक थाने पर एक चिता पार्टी और एक सूचना संकलन बनाया जाता है और उसमें ऐसे पुलिस जवानों को लगाया जाता है कि ऊनमे चीते जैसी रफ़्तार ओर सूचनाओं का तंत्र मजबूत रहे लेकिन तराना में सब इसके विपरीत चल रहा है यहां चिता पार्टी के जवानों की रफ़्तार इन जुआरियों ओर सटोरियों की रफ़्तार से बहुत धीमी ओर काफी कम दिखाई दे रही है और सूचना संकलन तो इन सटोरियों के सूचना तंत्र के सामने पानी भरता दिखाई दे रहा है विश्वसनीय सूत्रों का तो यहां तक कहना है कि जितना पैसा थाने के मुखिया को नही जाता होगा उससे कहीं ज्यादा पैसा चिता पार्टी और सूचना संकलन के जवानों को जाता है तो वाजिब है कि तराना पुलिस के इन चिता जवानों की रफ़्तार कम ही होगी और इन सूचना संकलन के जवानों का सूचना तंन्त्र कमजोर होना लाज़मी है लेकिन कुछ भी हो चाहे पुलिस सरंक्षण में या फिर सफेदपोश नेताओं के राजनीतिक सरंक्षण में चल रहे इस जूए , सट्टे के गोरखधंधे में चारों ओर इनके संचालकों की तो बल्ले बल्ले है

वर्तमान में आईपीएल क्रिकेट का सट्टा चल रहा चरम सीमा पर

हाल ही में चल रहा आईपीएल आईपीएल के क्रिकेट का सट्टा नगर में धड़ल्ले से चल रहा है और इसकी भी जानकारी इन पुलिस के जवानों को हे लेकिन इन पर भी किसी तरह की कोई कार्यवाही करने को तैय्यार नही है क्योंकि इनकी मोटी कमाई बन्द होने का अंदेशा बना रहता है और उनकी कमाई के चक्कर में इन क्रिकेट के सट्टा किंग व्यापारियों पर कुछ कार्यवाही होना सपने के समान है अब देखना यह होगा कि ख़बर लगने के बाद भी पुलिस प्रशासन इन जुआ , सट्टा ओर हजरबल्ली के संचालकों पर कोई कार्यवाही करते है या यह गोरखधंधा ऐसे ही नगर में फलता फूलता रहेगा लेकिन यह गोरखधंधा बन्द नही होने तक माटी की महिमा की ख़बर निरन्तर जारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: