Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

3 साल से हत्या में फरार आरोपी डेढ़ साल पहले पहुंचा था ससुराल

मृतक के पैर काटकर रेलवे ट्रेक के समीप फेंकना बताया
उज्जैन। हत्या के मामले में 3 साल से फरार आरोपी को प्रोटेक्शन वारंट पर पुलिस उज्जैन लाई है। 2 दिन के रिमांड पर पूछताछ में आरोपी ने बताया कि फरारी के दौरान वह अपने ससुराल पहुंचा था। हत्या के बाद मृतक के पैर काटकर रेलवे ट्रैक के समीप फेंके थे। पुलिस उसे घटनास्थल सरदारपुरा भी लेकर पहुंची।
देवासगेट थाना क्षेत्र के सरदारपुरा में 4 सितंबर 2017 में हुई रामु उर्फ धर्मवीर की हत्या में फरार चल रहे आरोपी रमेश लोधी को पुलिस इंदौर से प्रोटेक्शन वारंट पर लेकर आई है। शनिवार से आरोपी पुलिस रिमांड पर है। इस दौरान पूछताछ में आरोपी रमेश ने बताया कि फरारी के दौरान वह इंदौर महू और अन्य शहरों में मजदूरी के साथ अगरबत्ती बेचने का काम करता रहा और फुटपाथ पर सोया डेढ़ वर्ष पूर्व से पता चला था कि पत्नी इंदिरा ने सरदारपुरा में बना मकान बेच दिया है। जिसके चलते वह इंदौर सदर बाजार क्षेत्र में अपने ससुराल मकान बेचने का हिस्सा मांगने पहुंचा था। लेकिन ससुराल पक्ष द्वारा पुलिस से पकड़ाए जाने का डर देख वापस भाग निकला था। पुलिस ने हत्या के बाद मृतक रामू के दोनों पैर काटकर फेंकने की जानकारी जुटाई तो आरोपी ने बताया कि इंदौर गेट स्थित रेलवे कॉलोनी के पीछे रेलवे ट्रैक के किनारे उसने दोनों पैर और मोबाइल फेंक दिया था। पुलिस तस्दीक के लिए उसे रेलवे ट्रैक के किनारे लेकर पहुंची जहां पैर फेंके जाने की सिर्फ तस्दीक की जा सकी। 3 साल बाद मृतक के पैर मिलना नामुमकिन थे। आरोपी को पुलिस घटनास्थल सरदारपुरा उसके मकान पर लेकर पहुंची लेकिन वह स्थान पर होटल बन चुकी थी। आरोपी ने बताया कि उसका मकान कच्चा था जिसका एक हिस्सा खंडहर पड़ा था। रामू की हत्या नीचे कमरे में कर लाश को खंडहर में में छुपा दिया था। वह रामू के शरीर को काटकर ठिकाने लगाने की फिराक में था। पैर काट कर फेंक चुका था लेकिन 2 दिन बाद ही पत्नी इंदिरा बाई को लाश दिखाई दी और उसने पुलिस को सूचना दे दी।
पत्नी के साथ संबंध का शक होने पर की थी हत्या
आरोपी रमेश ने पुलिस पूछताछ में बताया कि पत्नी इंदिरा बडऩगर मार्ग स्थित ढाबे पर काम करती थी। जहां रामू से इसकी पहचान हुई थी। रामू की ढाबे पर ही काम करता था जिसके बाद उसका हमारे घर आना जाना शुरू हो गया था। उसने लोन दिलाने की बात कही थी जिसके चलते रामू से उसकी भी बातचीत शुरू हो गई थी। डोल ग्यारस के दिन रामू पत्नी और बच्चों को घुमाने ले गया था। देर रात लौट कर आया था उसे शंका हो गई थी कि रामू के संबंध पत्नी के साथ हो चुके हैं जिसके चलते उसने हत्या को अंजाम दिया। रात को राम उसके घर ही रुका था तभी उसने धारदार हथियार से गला रेतकर मार डाला।
आज न्यायालय में पेश करेगी पुलिस
आरोपी रमेश के 2 दिन की रिमांड अवधि आज समाप्त हो रही है। दोपहर बाद उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र सिंह के अनुसार हत्या के मामले में आरोपी के खिलाफ धारा बढ़ाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: