Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

जहरीली शराब मामला: एसपी मनोज कुमार सिंह को पद से हटाया, सीएसपी रजनीश कश्यप को किया निलंबित

उज्ज्ैन। जहरीली शराब पीकर मरने के मामले में प्रतिदिन अधिकारी कर्मचारियों पर गाज गिरने का सिलसीला जारी है। बुधवार से शुरू हुआ ये सिलसीला अब तक जारी है। सभी निलंबित अधिकारी/कर्मचारियों पर शहर में लापरवाही बरतने के लिए कार्रवाई की गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने आज अपने निवास पर बैठक में इस संबंध में निर्देश दिए है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अवैध रूप से पनप रहे शराब माफियाओं पर लगाम कसमें के लिए अब सख्त रवैया अपना लिया है। भोपाल से आया हुआ एसआईटी टीम द्वारा शहर में दो दिनों तक शहर में विभिन्न जगहों पर जांच कर अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को सौंपी है।

मुख्यमंत्री का सख्त रवैया
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में 3 दिन पूर्व जहरीली शराब के सेवन से हुई मौतों के मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक उज्जैन को हटाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज निवास पर आहूत बैठक में इस संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित क्षेत्र के नगर पुलिस अधीक्षक( सीएसपी) के निलंबन के निर्देश भी दिए हैं।
विशेष जांच दल ने मुख्यमंत्री को सौंपी जांच की रिपोर्ट
शुक्रवार को उज्जैन पहुंची एसआईटी की टीम ने 2 दिनो तक सुक्ष्मता से जांच करते हुए रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान तक जांच पहुंचाई जिसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तुरंत एक्शन में आते हुए पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह को हटा देने और सीएसपी रजनीश कश्यप को निलंबित करने के निर्देश दे दिए गए है।

आगे और भी अधिकारी/कर्मचारी हो सकते है निलंिबंत
बुधवार और गुरूवार दो दिनों तक जारी जहरीली शराब पीने से 14 लोगों की मौत हो चुकी थी। जिसका सरगना गब्बर और सिंकदर पुलिस गिरफ्त में आ चुके है। उनसे पुछताछ की जा रही है अभी तक दोनों ने पुलिस को बहुत से अधिकारी कर्मचारियों की सूचि बताई कि कौन कौन उसका इन अपराधों में साथ दे रहा था। शासन/प्रशासन द्वारा अभी तक कई ऐसे भृष्ट अधिकारी/मिलावटखोरों पर निलंबन की कार्रवाई की जा चुकी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को एसआईटी टीम ने अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी है। अब देखना यह है कि और किन किन भृष्ट और सरगनाओं को पनाह देने वाले अधिकारी/कर्मचारियों पर गाज गिरेगी। मुख्यमंत्री ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि दोषी कोई भी कार्रवाई जरूर होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: