Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

शहर से 6 किलोमीटर दूर हामूखेड़ी में विराजित है बिजासन माता
टी की महिमा न्यूज /उज्जैन।
देवास रोड स्थित शहर के 6 किलोमीटर दूर हामुखेड़ी गांव में अतिप्राचीन बिजासन का मंदिर है। यह मंदिर टेकरी पर कच्चे रूप में था। लेकिन लोगों को जब इस मंदिर से मां का आशीर्वाद मिलने लगा और उनकी मनोकामनाएं पूर्ण होने लगी तो लोगों ने चमत्कार को नमन कर मंदिर पर विशेष ध्यान देना शुरू किया। बाद में मां ने ग्रामीण लोगों को स्वप्न में आकर इसके निर्माण की प्रेरणा दी। आज यह मंदिर कई मान्याताएं लिए हुए है, दूर-दूर से लोग अब यहां दर्शन के लिये आने लगे हैं। 12 महीने ही अब यहां भक्तों की भीड़ रहती है।
उज्जैन शहर में किवदंती है कि यहां जितना अनाज एक-एक मूर्ति पर भी चढ़ाओगे तो आपका दिया अनाज खत्म हो सकता है लेकिन मंदिरों की संख्या कम नहीं होगी। देवी मंदिरों में एक मंदिर हामुखेड़ी में भी विराजित है। वर्षों पहले यह मंदिर प्राचीन टेकरी पर कच्चे रूप में स्थापित था। प्रतिमा कहां से और किसके द्वारा लगाई गई इसकी कोई जानकारी नहीं है। बताया जाता है कि गांव जब से बसा है तब से ही लोग यहां इस मंदिर को देख रहे हैं। कुछ लोग ही इस मंदिर पर दर्शन के लिये आते थे, उनकी सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती थी। उन लोगों के चर्चा से और उन लोगों के हुए कार्यों को देखकर आकर्षण बढ़ा और लोग धीरे-धीरे दर्शन के लिये जाने लगे। मां के चमत्कार लोगों को दिखने लगे। मंदिर का उसी समय से थोड़ा-थोड़ा निर्माण कार्य शुरू हुआ। मां ने स्वप्न में आकर मंदिर की भव्यता की मंशा जाहिर की। कुछ ही सालों पहले यह मंदिर विशाल मंदिर के रूप में बदल चुका है, मंदिर की मान्यता है कि यहां आज भी बलि प्रथा है। मांग के अनुसार भक्त यहां मुर्गा, बकरा, छोड़ जाते हैं। यहां आने वाले भक्तों को मां तीन स्वरूपों में दर्शन देती है। ग्रामीण लोगों का कहना है कि यहां के लोगों ने मां को स्वरूप बदलते हुए देखा है। यहां सच्चे दिल से जो कामना की जाती है वो सौ टका पूर्ण होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: