Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

रवि पुष्य नक्षत्र पर चमका बाजार, आज भी जमकर खरीददारी

माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन
दीपावली से पहले शनि-रवि पुष्य नक्षत्र में आज भी बाजार गुलजार दिखाई दे रहा है। रवि पुष्य पर सुबह से ही लोग शुभ मुहूर्त में खरीददारी के लिए घरों से बाजार का रूख कर चुके थे। शनि पुष्य नक्षत्र में कल उम्मीदभरा कारोबार हुआ था। सराफा बाजार में रौनक दिखाई दी थी।


कोरोना संक्रमण के 6 माह बाद दीपावली पर्व की रौनक बाजार में दिखाई दे रही है। इस बार दो दिन पुष्य नक्षत्र होने पर आर्थिक मंदी की मार झेल रहे व्यापारियों और कारोबारियों में अच्छे व्यवसाय की उम्मीद थी जो शनि पुष्य नक्षत्र में उम्मीदभरी रही। आज एक बार फिर रवि पुष्य पर व्यापारियों के चेहरे खिले नजर आ रहे हैं। सुबह से बाजार में लोगों द्वारा शुभ, अमृत और लाभ मुहूर्त में आभूषण, बर्तन और इलेक्ट्रॉनिक सामानों की खरीददारी शुरू कर दी गई थी। दो दिनों से बाजार में काफी रौनक बनी हुई है। लोग कोरोना संक्रमण की गाइड लाइन के मुताबिक खरीददारी के लिए पहुंच रहे हैं। चेहरे पर मास्क लगा रखा है वहीं सोशल डिस्टेंसिंग के साथ जागरूकता दिखाई जा रही है। शनिवार देर रात तक बाजार खुला रहा था। आज भी देर रात तक बाजार गुलजार दिखाई देगा। पुष्य नक्षत्र के बाद धनतेरस का पर्व मनाया जाएगा। इस दिन भी खरीददारी का विशेष मुहूर्त और धन के देवता कुबेर की पूजा की जाएगी।

1 से डेढ़ करोड़ का हुआ था कारोबार
शनि पुष्य नक्षत्र में सबसे ज्यादा आभूषणों की खरीददारी होना सामने आई है। सराफा बाजार कारोबारियों के अनुसार पिछले 6 माह से बाजार में कारोबार पूरी तरह से ठप्प पड़ा हुआ था। शनि पुष्य में करीब डेढ़ करोड़ से अधिक का व्यापार हुआ है। शहरवासियों ने शुभ मुहूर्त में सोने के मोती, चेन, टॉप्स, पेंडल और चांदी के आभूषणों की खरीददारी की है। रवि पुष्य नक्षत्र में भी कारोबार के उम्मीद से अधिक होने की संभावना बनी हुई है। सराफा बाजार के साथ ही बर्तन बाजार और इलेक्ट्रॉनिक बाजार में भी लाखों की खरीददारी होना बताया जा रहा है।

मिट्टी के दीपकों की खरीददारी
पुष्य नक्षत्र में खरीददारी के साथ ही शहरवासियों ने पांच दिवसीय दीपोत्सव की तैयारियों में मिट्टी के दीपक की खरीददारी भी शुरू कर दी है। इस बार दीपावली का पर्व दीपों की रोशनी से जगमग होता दिखाई देगा। हर बार चायना की रोशनी से घरों और प्रतिष्ठानों को सजाया जाता था लेकिन चायना सामान पर प्रतिबंध के बाद लोगों का रूझान दीपों की रोशनी की ओर बढ़ गया है। जिसके चलते मिट्टी के दीपकों की खरीददारी जोर-शोर से की जा रही है। दीपक बनाने वाले कुम्हारों के चेहरों पर भी चमक दिखाई दे रही है। सोशल मीडिया पर लगातार पोस्ट अपलोड की जा रही थी कि दीपावली की खरीददारी ऐसे स्थान से की जाए जिससे सामान बेचने वालों के घरों में भी दीपावली मनाई जा सके। इस जागरूकता का असर बाजार में देखने को मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: