Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

दो दिन में 54, फिर रफ्तार बढ़ा रहा कोरोना

जिले में दूसरा पिक आने की संभावना, कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन नहीं करना बना मुसीबत
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

दीपावली समाप्त होने और मौसम में बदलाव के बाद एक बार फिर कोरोना की रफ्तार बढ़ती नजर आने लगी है। दो दिन में 54 संक्रमित मरीज सामने आ चुके हैं। कोविड-19 की गाइड लाइन का दीपोत्सव के दौरान पालन नहीं करने का नतीजा दूसरे पिक के रूप में दिखाई दे रहा है।
जिले में कोरोना की पिछले दिनों रफ्तार थमती नजर आ रही थी। संक्रमित मरीजों का आंकड़ा इकाई की संख्या में सीमित होता नजर आ रहा था। बावजूद इसके प्रशासन द्वारा लगातार कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन किये जाने के निर्देश जारी किये जा रहे थे। दीपावली पर लोगों ने कोरोना को पूरी तरह से भुला दिया था और बाजार में बिना सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क के खरीदारी करने उमड़ पड़े थे। जिसका नतीजा पिछले दो दिन से दिखाई दे रहा है। 17 नवंबर को 27 संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई थी वहीं कल 18 नवंबर को भी 27 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। जिसके चलते एक बार फिर अस्पतालों में भर्ती संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती नजर आने लगी है। आज सुबह तक 158 पॉजिटिव मरीजों का उपचार अस्पतालों में चल रहा था। जिसमें 49 मरीजों में कोरोना के अधिक लक्षण बने हुए थे। 109 मरीज की हालत सामान्य होना बताई गई है। दो दिन में 54 मरीजों के पॉजिटिव आने के साथ मात्र 25 मरीजों के स्वस्थ होने की पुष्टि हुई है।
अब तक जिले में 3971 कोरोना पॉजिटिव मरीजों के होने की पुष्टि हो चुकी है। जिसमें से 3715 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना से मरने वालों की संख्या 98 पहुंच चुकी है। कल जारी हुए स्वास्थ्य बुलेटिन में 15 नवंबर को इंदौर में हुई उज्जैन निवासी 74 वर्षीय पुरूष की मौत को भी मृतकों के आंकड़े में जोड़ा गया है। दो दिन में जिस तरह से संक्रमित मरीजों की संख्या सामने आई है उसे देखते हुए जिले में कोरोना का दूसरा पिक आने की संभावनाएं प्रबल हो गई हैं। अगर अब भी लोगों ने गाइड लाइन के नियमों का उल्लंघन किया तो शहर में कोरोना का बड़ा विस्फोट होने से नहीं रूकेगा।
जिला प्रशासन ने फिर लिया सख्त निर्णय
मार्च माह में कोरोना की शुरुआत होने के बाद लॉकडाउन लगाया गया था। 1 जून को लॉकडाउन खुलने के बाद गतिविधियों को सामान्य करने के प्रयास शुरू किए गए थे और धीरे-धीरे सबकुछ सामान्य हो गया था। प्रशासन द्वारा कोविड-19 की गाइड लाइन का पालन करने की बात कही जा रही थी। लेकिन कोरोना के दूसरे पिक को देखते हुए एक बार फिर जिला प्रशासन ने सख्त निर्णय लेने की शुरुआत कर दी है। सबसे पहले बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों को 10 घंटे तक अस्थाई जेल भेजने का निर्णय लिया गया है। अगर आगामी दिनों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ तो प्रशासन और भी सख्त निर्णय लेकर कोरोना की जंग जीतने के दूसरे प्रयास की शुरुआत कर देगा।
सेम्पल संख्या फिर बढ़ेगी
पिछले दिनों कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आने के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा घर-घर पहुंचकर संदिग्धों की सेम्पलिंग करना कम कर दिया था। अस्पताल पहुंचने वालों के ही सेम्पल लिए जा रहे थे। लेकिन दो दिन में जिस तरह से मरीजों के पॉजिटिव होने की संख्या सामने आई है उसे देखते हुए एक बार फिर स्वास्थ्य विभाग सेम्पल लेने की संख्या बढ़ा सकता है। कोरोना ने भी अपना ट्रेड बदल लिया है। इसकी शुरुआत सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ के साथ हुई थी। लेकिन अब इसके कुछ और लक्षण सामने आने लगे हैं जिसमें लगातार सिरदर्द, बदन दर्द, कमजोरी, सीने में दर्द और भूख नहीं लगना भी शामिल होना बताए जा रहे हैं। अस्पतालों में एक बार फिर सर्दी, जुकाम, खांसी और नए लक्षणों के साथ आने वाले मरीजों पर पूरी तरह से नजर रखी जाने लगी है। उनके नाम-पते भी अब अंकित किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: