Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

2 साल पहले मुस्लिम लड़के से शादी, उर्दू-अरबी न सीखने पर पिटाई, शिकायत पर मध्यप्र्रदेश में पहली गिरफ्तारी

शहडोल। एमपी में लव जिहाद बिल को लेकर हंगामा मचा हुआ है। इस बीच शहडोल पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई की है। जबरन उर्दू और अरबी सीखने के लिए पिटाई करने वाले मुस्लिम पति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मामला एमपी के शहडोल जिले का है। धनपुरी निवासी ज्योति दहिया ने 2 साल पहल मोहम्मद इरशाद खान से शादी की थी। शादी के कुछ दिनों तक सब कुछ सही चलता रहा।
उसके बाद परिवार के लोग मुस्लिम धर्म के तौर-तरीके सीखने के लिए दबाव बनाने लगे। सबसे ज्यादा दबाव उर्दू और अरबी सीखने को लेकर था। महिला इसके लिए तैयार नहीं थी। मना करने पर पति पिटाई करने लगता था। रोज की मारपीट से अजीज होकर वह ससुराल से भाग गई। उसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। शिकायत दर्ज होने के बाद पुलिस ने तुरंत आरोपी पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जानकारी अनुसार प्रताडऩा से तंग आकर ज्योति दहिया 27 नवंबर को अपने मां-बाप के पास पहुंच गई थी। उसके बाद ज्योति दहिया ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की है। ज्योति का कहना है कि उसका पति उससे लगातार कहता था कि अब तुम मुस्लिम रीति-रिवाज सीख लो और साथ ही उर्दू पढऩा लिखना भी सीख लो। लेकिन मैं सीख नहीं पाई, इस बात पर पति कभी मुझे मार भी दिया करता था। मैं हिंदू धर्म में ही रहना चाहती हूं। पुलिस ने शिकायत के आधार पर ज्योति के पति इरशाद खान को मध्य प्रदेश धर्म स्वतंत्रता अधिनियम 1968 एवं प्रताडऩा के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। इस पूरे मामले पर शहडोल जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश वैश्य का कहना है कि मामले में विवेचना जारी है शीघ्र ही आरोपी को न्यायालय में पेश किया जाएगा।
बरेली में लव जिहाद के मामले में पहली एफआईआर
लखनऊ। यूपी में गैर कानूनी धर्म परिवर्तन अध्यादेश को राज्यपाल की मंजूरी मिलने के बाद बरेली में इसके तहत पहला मामला दर्ज किया गया है। बरेली में लव जिहाद के आरोप में नए कानून के तहत पहली एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस के मुताबिक लव जिहाद के आरोप में बरेली के थाना देवरनिया में उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम 3/5 की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी पर जबरन धर्मांतरण करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया गया है। फिलहाल आरोपी घर से फरार है। उबैस नाम के युवक पर लड़की को बहला फुसला कर धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया गया है।

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से पारित अध्यादेश को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शनिवार को मंजूरी दी थी, जिसके साथ यह कानून यूपी में लागू हो गया। इस कानून के लागू होने के बाद बरेली में पहला मामला इसके तहत दर्ज किया गया है. पुलिस इस मामले में आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: