Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

कड़ाके की हुई ठंड, मंगरोला के खेतों में जमी बर्फ

रात का 3 डिग्री, दिन का 9 डिग्री सेल्सियस गिरा तापमान
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

दिसंबर माह के अंतिम सप्ताह में मौसम एक बार फिर बदल चुका है। कड़ाके की ठंड महसूस की जा रही है। शहर से 8 किलोमीटर दूर ग्राम मंगरोला के खेतों में बर्फ जमी नजर आने लगी है।
कुछ दिनों की राहत के बाद एक बार फिर मौसम करवट लेता नजर आ रहा है। 2 दिनों से सर्द हवा ठंड का एहसास करा रही है। आज सुबह ग्राम मंगरोला के खेतों में फसल के ऊपर बर्फ जमी नजर आई जिसे देखकर किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें दिखाई देने लगी थी। सर्द हवा ने सोमवार को अधिकतम तापमान 9 डिग्री गिरा दिया था। वही बीती रात न्यूनतम तापमान में भी 3 डिग्री का गोता लगाया है। रविवार को अधिकतम तापमान 3 डिग्री दर्ज किया गया था वहीं रविवार सोमवार रात न्यूनतम तापमान 10 डिग्री था। मौसम में आए बदलाव की वजह हिंद महासागर में चक्रवातीय संचरण और मध्य पाकिस्तान के ऊपर चक्रवातीय गतिविधियां बनने से ठंड का असर तेज हुआ है। जीवाजीराव वेधशाला अधीक्षक राजेंद्र कुमार गुप्त के अनुसार पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी शुरू हुई है वहीं मैदानी इलाकों से ठंडी हवा का रुख प्रदेश की ओर हुआ है जिसके चलते ठंड बढ़ गई है। हवा की रफ्तार 4 से 6 किलोमीटर प्रति घंटा बनी हुई है जिसके बढऩे की संभावनाएं नजर आ रही हैं। हवा की गति बढऩे से सर्द मौसम बना रहेगा।
गर्म कपड़ों और धूप का सहारा ले रहे शहरवासी
मौसम में हुए बदलाव और कड़ाके की ठंड से बचने के लिए शहरवासी गर्म कपड़ों के साथ धूप का सहारा ले रहे हैं। सुबह सूर्य देव के प्रकट होने के बाद से ही लोग घरों की छत और दरवाजों के बाहर खड़े नजर आ रहे थे। हर कोई गर्म कपड़ों से लिपटा हुआ था। ठंड का असर तेज होने से मंगलवार सुबह बाजार भी देरी से खुला था। सुबह के समय सिर्फ दूध की डेरिया ही जल्दी खुल पाई थी वही सोमवार शाम ढलने के बाद से ही पाश कालोनियों में सन्नाटा दिखाई देने लगा था और सड़कों पर आवागमन भी कम हो गया था। ठंड से बचने के लिए हर कोई घरों की ओर जल्द से जल्द रवाना हुआ था।
ठंड बढऩे से बच्चों और बुजुर्गों की बढ़ी मुसीबत
ठंड का असर तेज होने और हवा की चुभन महसूस होने से बच्चों और बुजुर्गों की मुसीबत बढ़ गई है। कोरोना संक्रमण के बीच ठंड के सीजन में होने वाला सर्दी जुखाम परिवारों के बीच डर और दहशत का माहौल बनाने लगा है। डॉक्टरों ने सलाह दी है कि बच्चों और बुजुर्गों को ठंड से बचाने के पर्याप्त इंतजाम परिजनों द्वारा किए जाएं वही परेशानी महसूस होने पर चिकित्सकों की सलाह लेकर अपना उपचार सही समय पर कराएं। कोरोना संक्रमण और ठंड के बीच होने वाली बीमारियों के लक्षण एक जैसे हैं जिससे घबराए नहीं और सतर्कता से काम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: