Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

सरकारी अमले पर माफियाओं के हमले नहीं रुक रहे हैं प्रदेश में

भोपाल मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की ओर से माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की तमाम कोशिशों के बावजूद सरकारी अमले पर हमले की घटनाएं नहीं रुक पा रही हैं। देवास जिले में वनरक्षक की गोली मारकर हत्या और ग्वालियर चंबल अंचल में हाल के दिनों में पुलिस पर हमले की प्रकाश में आयी घटनाओं की आज यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार श्री चौहान ने अपने निवास पर वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में कहा कि देवास जिले में काल कवलित हुए वनरक्षक को शहीद के समकक्ष दर्जा दिया जाएगा और आवश्यक सुविधाएं परिवार की दी जाएंगी। उन्होंने वनरक्षक की मृत्यु के मामले में वन और गृह विभाग के अधिकारियों से आवश्यक जानकारी हासिल की। देवास जिले के उदयनगर थाना क्षेत्र स्थित पुंजापुरा वन क्षेत्र में वन विभाग के एक वनरक्षक मदनलाल वर्मा (58) की गुरुवार को अज्ञात बदमाशों ने जंगल में ही गोली मारकर हत्या कर दी। आरोपी शिकारी बताए गए हैं। हालाकि फिलहाल किसी प्रकार की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है। इस संबंध में एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।
देवास के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) सूर्यकांत शर्मा का कहना है कि पुंजापुरा वन क्षेत्र में एक छोटे तालाब के समीप से रतनपुर बीट में पदस्थ एक वनरक्षक मदनलाल वर्मा (58) का खून से लथपथ शव गुरुवार को मिला। उन्हें किसी शिकारी ने गोली मार दी, जिससे उनकी मौत हो गयी। पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उसकी तलाश आरंभ कर दी है। इसके पहले कल ग्वालियर के पुरानी छावनी क्षेत्र में थाना प्रभारी सुधीर सिंह कुशवाह पर रेत माफिया से जुड़े लोगों ने ट्रैक्टर चढ़ाने का प्रयास किया। उन्होंने नाले में कूदकर अपनी जान बचायी। इस वजह से घायल श्री कुशवाह को ग्वालियर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनका कहना है कि यदि वे नाले में नहीं कूदते तो ट्रैक्टर उन पर चढ़ा दिया जाता। दरअसल पड़ोसी दतिया जिले में माफियाओं द्वारा पुलिस कर्मचारियों पर गोली चलाने की घटना के बाद ग्वालियर जिले में भी माफियाओं के खिलाफ सख्ती बरतना प्रारंभ हुआ है।
इसी क्रम में श्री कुशवाह के नेतृत्व में पुलिस बल ने जलालपुर रेलवे पुल के पास चंबल से रेत लाने वाले लगभग आधा दर्जन ट्रैक्टर ट्रालियों को रोक लिया था। हालाकि पुलिस अधिकारी पर हमले की घटना के बाद पुलिस भी अब सक्रिय नजर आ रही है और आधा दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: