Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

आवारा मवेशी बने शहरवासियों के लिए परेशानी का सबब

शहर की सड़कों व चौराहों पर बना रहता है कब्जा
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

शहरभर में आवारा मवेशियों का जाल लगातार बनता जा रहा है। ये आवारा मवेशी शहर की जनता के लिए परेशानी का सबब बनते जा रहे हैं। ये आवारा मवेशी सड़क, चौराहें व गलियों में डेरा डाले रहते हैं जिससे राहगीरों को परेशानी बनी रहती है। बीच सड़क पर बैठे आवारा मवेशियों के कारण कई बार गंभीर दुर्घटना भी हो जाती है। दोपहर के समय इन मवेशियों की संख्या कम रहती है वहीं रात होते ही शहर की विभिन्न कॉलोनी और क्षेत्रों में मवेशियों का डेरा जम जाता है।
इन आवारा मवेशियों के कारण गंभीर दुर्घटनाएं लगातार होती जा रही हैं। कुछ दिनों पूर्व सुदामानगर निवासी पुनिया बाई को आवारा गाय ने सींग मारकर घायल कर दिया था। इसी प्रकार की अन्य घटनाएं भी अन्य क्षेत्रों में हो चुकी है। निगम आयुक्त क्षितिज सिंघ ने अक्टूबर 2020 में शहर को पूरी तरह आवारा पशु मुक्त बनाने का दावा किया था लेकिन इस पर अभी तक कोई अमल नहीं हुआ है। कलेक्टर ने भी सड़कों पर मवेशियों को छोडऩे के मामले में धारा 144 लागू की थी और पशु मालिकों को निर्देश दिए गए थे कि अगर आवारा मवेशियों को सड़कों पर छोड़ा तो उन पर रासुका की कार्यवाही की जाएगी। लेकिन कलेक्टर और निगमायुक्त के आदेशों का मवेशी पालक पालन नहीं कर रहे हैं। लापरवाह पशु मालिकों के खिलाफ शहर के जनप्रतिनिधियों ने भी अधिकारियों से चर्चा की थी और ऐसे पशुपालक जिनके मवेशी सड़कों पर घुमते रहते हैं उनके पशु बाड़े तोडऩे के निर्देश दिए थे लेकिन यह अभियान पशु मालिकों के आगे बौना साबित हो गया है।
शुरू होते ही बंद हो जाती है मुहिम
आवारा पशु पालकों के बाड़े तोडऩे और उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मुहिम कागजों से शुरू होकर कुछ क्षेत्रों में चलती है और उसके बाद बंद हो जाती है जिससे बेखौफ पशु मालिक अपने मवेशी क्षेत्रों में विचरण करने के लिए छोड़ देते हैं और शाम को दूध निकालने के वक्त पशु पालक अपने मवेशी अपने अपने बाड़ों में लेकर आ जाते हैं और दूध निकाल लेने के बाद उन्हें पुन: विभिन्न क्षेत्रों में विचरण करने के लिए छोड़ देते हैं।
गांवों से लगी कॉलोनियों के रहवासी परेशान
शहर के आसपास दूर क्षेत्रों में बसी कॉलोनी के रहवासी उनके आसपास ग्रामीण क्षेत्रों के कारण परेशान हैं। ग्रामीण क्षेत्र के मवेशी पालक अपने मवेशी रात होते ही विचरण के लिए छोड़ देते हैं। ये मवेशी विचरण करते करते ग्रामीण क्षेत्रों की आसपास की कालोनियों में पहुंच जाते हैं। जिससे कालोनी वासियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। तिरुपति धाम निवासी गोविंद परमार ने बताया कि पास में ही कानीपुरा गांव है।
वहां से आवारा मवेशी पशु पालक छोड़ देते हैं जो हमारी कालोनी में आकर रात्रि विचरण करते हैं। कई बार ये मवेशी बच्चों को मारने के लिए उनके पीछे लगते हैं। जिससे पूरी कालोनी के रहवासी परेशान हैें। ये आवारा मवेशी कालोनी में गंदगी करते हैं। कई बार नगर निगम व सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करने के बाद भी इस समस्या का निराकरण नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: