Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

दिल्ली की कंपनी युवाओं को भ्रमित कर दिखा रही थी झूठे सपने

46-46 हजार रुपए लेकर की धोखाधड़ी, आठ हिरासत में
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

सेमिनार आयोजित कर युवाओं को भ्रमित कर झूठे सपने दिखा रही दिल्ली की कंपनी के 8 लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है जिनके खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया गया है। आज न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।
मक्सी रोड पर नक्षत्र होटल के पास इंटरनेशिया इंडिया मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी दिल्ली का ऑफिस खोल कर कुछ लोगों द्वारा युवाओं को ऑनलाइन मार्केटिंग नौकरी के झूठे सपने दिखाए जा रहे थे। कंपनी के लोग सेमिनार आयोजित कर 46-46 हजार रुपए जमा करा रहे थे। पूर्व में कंपनी में नानाखेड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत अपना ऑफिस खोला था जहां दर्जनों युवक-युवतियों को अपने जाल में फसाया। लाखों रुपए जमा कराने के बाद युवाओं के सपने पूरे नहीं किए गए और अपना कार्यालय मक्सी रोड पर खोल लिया। बुधवार को चिमनगंज थाना क्षेत्र के मनोरमा गार्डन मैं कंपनी के लोगों द्वारा एक सेमिनार आयोजित कर हजारों लोगों और युवाओं को एकत्रित कर लिया था। कंपनी के झूठे सपनों में फंस चुके कुछ युवाओं ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर मामले की शिकायत की। एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ला ने चिमनगंज थाना पुलिस को मामले की जांच के आदेश दिए। सीएसपी पल्लवी शुक्ला चिमनगंज टीआई अजीत तिवारी अपनी टीम के साथ मनोरमा गार्डन पहुंचे और कंपनी के कर्ता-धर्ताओं को हिरासत में लेकर थाने ले आई। दोपहर को हुई कार्रवाई देर रात तक जारी रही झूठे सपनों में फंसे युवा और कंपनी के समर्थन में दर्जनों लोग थाने के बाहर जमा हो गए। पुलिस ने मामले की पड़ताल शुरू की तो इंटरनेशिया इंडिया मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड का रजिस्ट्रेशन और अन्य दस्तावेज होना सामने नहीं आए। मामला पूरी तरह से युवाओं के साथ धोखाधड़ी का नजर आ रहा था। लंबी जांच प्रक्रिया के बाद देर रात पुलिस ने दिल्ली की कंपनी के कमलेश गुर्जर, रोबिन, किशन, निखिल, सुनील, रोहित, दीपक और मोहित जोशी के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर लिया। कंपनी का मालिक मोहित जोशी और दीपक जोशी होना बताया जा रहे हैं। मोहित जोशी पुलिस की हिरासत में नहीं आ पाया है। गिरफ्तार किए गए कंपनी के लोगों को आज न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लेगी।
नौकरी और गारमेंट्स मार्केटिंग का देते थे झांसा
सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने बताया कि दिल्ली की कंपनी उनके थाना क्षेत्र में पिछले कुछ महीनों से लगातार युवाओं को झूठे सपने दिखा रही थी। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की है। कंपनी के झूठे सपने में में फंसे युवाओं ने बताया कि कंपनी से वह सोशल मीडिया के माध्यम से जुड़े थे। कमलेश गुर्जर ने उन्हें घर गाड़ी और शानो शौकत के हर सपने दिखाए थे। कंपनी ने उन्हें नौकरी देने के साथ ऑनलाइन गारमेंट्स की सेलिंग का भी झांसा दिया था। कंपनी चैन सिस्टम के माध्यम से काम करने की बात कह रही थी। जिसके चलते उन्होंने कई लोगों को अपने साथ जोड़ लिया था। लेकिन कंपनी पूरी तरह से 46-46 हजार रुपए जमा करा कर शॉर्ट कर रही थी। युवाओं का कहना था कि हम से लिए गए पैसों से बड़े सेमिनार आयोजित कर दूसरे बेरोजगार युवाओं को फंसाने का काम किया जा रहा था।
किसी ने बाइक गिरवी रखी किसी ने लिया कर्ज
कंपनी की शिकायत लेकर थाने पहुंचे युवक-युवतियों ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से काम धंधा बंद हो जाने के चलते वह कंपनी के जूते सपनों में थक गए थे। उन्होंने कंपनी में अपनी बाइक गिरवी रख और कर्ज लेकर पैसे जमा कराएं। जब उन्हें नौकरी और गारमेंट्स का सामान नहीं मिला तो उन्होंने कंपनी से बोलने का प्रयास किया लेकिन उन्हें धमकाया जाने लगा। कंपनी पैसे लौटाने को भी तैयार नहीं थी वह पहले से ही बेरोजगारी की मार झेल रहे थे। कर्ज लेकर और नौकरी नहीं मिलने से अब फस चुके हैं। कंपनी के खाते में आए युवाओं ने बताया कि सोशल साइट पर कंपनी ने हजारों लोगों को जोड़ रखा है जिनके साथ धोखाधड़ी की जा रही है। कंपनी ने नानाखेड़ा क्षेत्र में अपना ऑफिस खोला था। उस दौरान भी मामले की शिकायत की गई थी लेकिन पुलिस ने संज्ञान नहीं लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: