Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

बडऩगर किसान महापंचायत में ट्रेक्टर-ट्रालियों की कतार

किसानों को पेट्रोल-डीजल की चिंता, कृषि कानून का नहीं पता
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

पंजाब-हरियाणा सहित दिल्ली में कृषि कानून को लेकर तीन माह से किसान धरने पर बैठे हुए हैं। मध्यप्रदेश में कृषि कानून विरोध का असर दिखाई नहीं दे रहा है। जिसे कांग्रेस ने भुनाने का काम शुरू कर दिया है। आज बडऩगर में महापंचायत रखी गई है। जिसमें ट्रेक्टर ट्रालियों की कतार दिखाई दी लेकिन कृषि कानून के संबंध में किसानों को कुछ पता ही नहीं था।
देशभर में कृषि के तीन काले कानूनों को लेकर किसानों द्वारा लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है। किसानों को राजनीतिक समर्थन भी मिलता दिखाई दे रहा है। मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले की बडऩगर तहसील में आज कांग्रेस ने केन्द्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन काले कृषि कानूनों को लेकर किसानों की महापंचायत का आयोजन किया है जिसमें मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के साथ पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव, पूर्व केबिनेट मंत्री जीतू पटवारी सहित बडऩगर के विधायक मुरली मोरवाल शिरकत कर रहे हैं। किसान महापंचायत को लेकर सुबह कोर्ट चौराहा से ट्रेक्टर रैली का आयोजन किया गया जो दोपर में गौतमपुरा रोड स्थित बस स्टैंड पर महापंचायत के रूप में परिवर्तित हो गई। ग्रामीण जिलाध्यक्ष कमल पटेल ने बताया कि रैली में शामिल हुए वरिष्ठ नेताओं ने किसानों को केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानूनों से होने वाले नुकसानों को बताया और किसानों के साथ मजदूरों और व्यापारियों से प्रदेश में भी काले कानूनों को लेकर विरोध प्रदर्शन की अपील की। लेकिन ट्रेक्टर ट्रालियां लेकर किसान महापंचायत में पहुंचे किसानों को तीन कृषि कानूनों के बारे में कुछ पता नहीं था। उन्हें तो सिर्फ पेट्रोल और डीजल के बढ़ते भावों को लेकर चिंता थी। मीडिया ने जब किसानों से कृषि कानून के संबंध में जानकारी ली तो उनका कहना था कि पेट्रोल डीजल के भाव काफी बढ़ रहे हैं। काले कृषि कानूनों की उन्हें जानकारी नहीं है। महापंचायत में कांग्रेस नेताओं द्वारा जब कानूनों के नुकसान बताए गए तो कुछ किसानों को समझ आया कि पंजाब-हरियाणा और दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे आंदोलन को लेकर आज महापंचायत का आयोजन किया गया है। महापंचायत में उज्जैन जिले की तहसील के कांग्रेस विधायक और कई कार्यकर्ता बडऩगर पहुंचे थे। महापंचायत में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने महापंचायत खत्म होने के बाद किसानों के साथ बैठकर भोजन करने की बात कही है। जिसको लेकर स्थानीय नेताओं द्वारा तैयारियां की जा रही थी। बडऩगर में महापंचायत के बाद कांग्रेस का काफिला घट्टिया तहसील की ओर रवाना होगा। यहां दिग्विजय सिंह और विधायक रामलाल मालवीय किसानों को संबोधित करेंगे। उसके बाद यहां से शाजापुर में किसान महापंचायत के लिए जाएंगे।
मध्यप्रदेश में नहीं कृषि कानूनों का विरोध
गौरतलब है कि कृषि कानूनों को लेकर मध्यप्रदेश के किसान विरोध प्रदर्शनों में अब तक शामिल नहीं हुए हैं। प्रदेश के किसान गेहूं की कटाई के बाद मंडियों तक भी पहुंच रहे हैं। प्रदेश के किसानों को केन्द्र सरकार के काले कृषि कानूनों के नुकसान बताने के लिए कांग्रेस ने मोर्चा संभाल लिया है। देखना होगा कि आने वाले दिनों में प्रदेश के किसानों पर कांग्रेस की महापंचायत और रैलियों का कितना असर हो पाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: