Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

कल 83 पॉजीटिव आए सामने, एक और मौत
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

पिछले एक सप्ताह से कोरोना की रफ्तार धार्मिक नगरी में डर और दहशत का माहौल बनकर सामने आ रही है। गुरुवार को एकसाथ 83 पॉजीटिव मरीज सामने आए हैं जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। जिस तरह से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ रही है उससे अब प्रतीत हो रहा है कि कोरोना धार्मिक नगरी की रफ्तार को रोकने पर आमादा है।
कोरोना की दूसरी लहर काफी तेजी के साथ बढ़ती नजर आ रही है। जनवरी माह में जहां संक्रमित मरीजों की संख्या इकाई में पहुंच चुकी थी और लग रहा था कि कोरोना की जंग जीती जा सकती है। लेकिन एक बार फिर शहर में डर और दहशत का माहौल दिखाई देने लगा है। पिछले एक सप्ताह में ही संक्रमित मरीजों की संख्या 465 पहुंच चुकी है। स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा भी कम होता जा रहा है। गुरुवार को मात्र 21 लोग ही स्वस्थ होकर घर लौटे थे। वहीं जारी हुए हेल्थ बुलेटिन में एक मौत के साथ आंकड़ा 108 पहुंच चुका था। पिछले दो-तीन दिनों से शासन-प्रशासन पॉजीटिव मरीजों की संख्या को देखते हुए मुस्तैद हो गया है। जिससे लगने लगा है कि एक बार फिर धार्मिक नगरी की रफ्तार थम सकती है। जिला प्रशासन ने शांति समिति की बैठक आयोजित कर आगामी दिनों में मनाए जाने वाले होली, रंगपंचमी, गुड फ्रायडे, ईस्टर, शब-ए-रात पर्व को घरों में ही रहकर मनाने की अपील की है। सर्वधर्म के गुरुओं के साथ हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया है।
माधवनगर और चरक कोविड सेंटर फुल
कोरोना के मरीजों को देखते हुए माधवनगर को कोविड सेंटर बनाया गया है। जहां पिछले वर्ष से ही संक्रमित मरीजों को भर्ती किए जाने का क्रम जारी है। पिछले कुछ दिनों में ही माधवनगर कोविड सेंटर पूरी तरह से भर चुका था। जिला प्रशासन ने चरक भवन की पांचवी मंजिल पर नया कोविड सेंटर बनाया था। यहां भी अब पलंगों की संख्या कम पड़ती नजर आ रही है। जिसके चलते एक बार फिर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज में संक्रमित मरीजों को भर्ती किए जाने का क्रम शुरू कर दिया गया है। निजी अस्पतालों में भी बेड आरक्षित किए जाने के निर्देश प्रशासन द्वारा दिए गए हैं।
लापरवाही पड़ रही भारी
कोरोना की बढ़ती रफ्तार लोगों की लापरवाही का नतीजा नजर आ रहा है। प्रशासन द्वारा अनलॉक प्रक्रिया शुरू करने के बाद शहर की आर्थिक व्यवस्था को पूरी तरह से शुरू करने के बाद भी सावधानी बरतने की अपील की जा रही थी। लेकिन कोरोना का आंकड़ा कम होता देख लोगों ने लापरवाही दिखाना शुरू कर दिया था। न ही मास्क लगाया जा रहा था और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा था। लोग बेफिक्र होकर शहर में घुमने फिरने लगे थे। जिसका नतीजा एक बार फिर सामने आया है। कोरोना से बचाव का सबसे बड़ा हथियार ही जागरूकता है। कोविड 19 गाइड लाइन का पालन करने पर ही शहर की रफ्तार कायम रह सकती है।
190897 की जांच
मार्च 2020 से लेकर 25 मार्च 2021 तक स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए 1,90,897 लोगों के सेम्पल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। जिसमें से 5947 लोगों में संक्रमण पाया गया है। स्वस्थ होने वालों की संख्या 5374 हो चुकी है। पिछले कुछ दिनों से संक्रमितों की संख्या का ग्राफ देखते हुए सेम्पल की संख्या भी बढ़ाई गई है। अब 1200 से अधिक लोगों की प्रतिदिन सेम्पलिंग की जा रही है। अस्पतालों में भर्ती 465 पॉजीटिव मरीजों में से 214 में लक्षण नहीं हैं वहीं 251 में कोरोना का संक्रमण अधिक बना हुआ है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!