Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

जबलपुर में ऑक्सीजन समाप्त होने से फिर 5 की मौत

8 दिन में दूसरी बार हुआ हादसा, आक्रोशित परिजनों ने जमकर हंगामा किया
जबलपुर।
मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की कमी से मौतों का सिलसिला रुक नहीं रहा है। जबलपुर में 8 दिन में दूसरी बार देर रात 5 कोविड मरीजों की मौत हो गई। ऑक्सीजन समाप्त होने से उखरी रोड स्थित गैलेक्सी हॉस्पिटल में पांच मरीजों ने तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। इससे भी शर्मनाक बात ये है कि जब मरीज ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने पर तड़प रहे तो ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर और स्टाफ अस्पताल छोड़कर भाग गए। 16 दिनों में मध्यप्रदेश में 61 मौतें ऑक्सीजन की कमी से हुई हैं।
पुलिस ने मौके पर पहुंच कर आनन-फानन में मोर्चा संभाला। तत्काल कुछ सिलेंडर की व्यवस्था कराई। दो मरीजों की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। इस पूरे घटना से आक्रोशित परिजनों ने जमकर हंगामा किया। गैलेक्सी हॉस्पिटल में कुल 65 कोविड संक्रमित भर्ती थे। इसमें 31 ऑक्सीजन वाले और 34 आईसीयू के मरीज भर्ती थे। दम तोडऩे वाले महाराजपुर पटेल नगर निवासी अमित कुमार शर्मा (42) के परिजनों ने आरोप लगाया कि चार दिन पहले उन्हें भर्ती कराया था। वीकल फैक्ट्री में चार्जमैन अमित कुमार शर्मा का ऑक्सीजन लेवल काफी कम हो गया था। रात डेढ़ बजे अचानक ऑक्सीजन समाप्त हो गई। हैरानी की बात ये है कि अस्पताल में बैकअप नहीं रखा गया था। अमित कुमार के साथ ही आईसीयू में भर्ती गाडरवारा नरसिंहपुर निवासी 65 वर्षीय गोमती राय, नरसिंहपुर निवासी विमला तिवारी (48), छिंदवाड़ा निवासी आनंद शर्मा और विजय नगर अग्रसेन वार्ड निवासी देवेंद्र कुमार (58) ने भी तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया। वहीं अन्य मरीजों में दो की हालत अभी नाजुक बनी हुई है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

मौतें होते ही डॉक्टर-स्टाफ भाग निकले
पूरे मामले में हॉस्पिटल प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। एक तरफ ऑक्सीजन का बैकअप नहीं रखा। दूसरी ओर ऑक्सीजन का कोई इंतजाम नहीं किया गया। तीसरी लापरवाही तब की, जब ऑक्सीजन समाप्त होने के बाद मरीज तड़पने लगे। डॉक्टरों को इलाज के लिए मौजूद रहना था, लेकिन वे स्टाफ के साथ मरीजों को भगवान भरोसे छोड़कर भाग निकले। कलेक्टर की ओर से अस्पतालों पर नजर रखने के लिए पटवारी की ड्यूटी लगाई गई है, लेकिन वो भी इसकी सूचना नहीं दे पाया। मौतों और डॉक्टर स्टाफ के भागने के बाद परिजन आक्रोशित हो गए। वे हंगामा करने लगे। इसकी सूचना परिजनों ने पुलिस को दी।
सीएसपी कोतवाली दीपक मिश्रा सहित कोतवाली, लार्डगंज, विजय नगर, मदनमहल, अधारताल थाने का बल बुलाना पड़ा। पुलिस की एक टीम जल्दी से अधारताल रवाना हुई। वहां से ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर पुलिस अस्पताल पहुंची। तीन बजे ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू हो पाई।

%d bloggers like this: