Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

कोरोना से पूरे देश में हाहाकार

इंदौर में 1841 नए मामले, 7 की मौत
नई दिल्ली।
भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के चपेट में 3,52,991 लोगों के मामले दर्ज किए गए वहीं अब तक 2812 लोगों की जान चली गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, अब तक देश में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 1,73,13,163 हो गया है और अब तक हुए मौतों का आंकड़ा 1,95,123 है। 2019 के अंत में चीन से निकले घातक कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पूरी दुनिया अब तक महामारी से जूझ रही है लेकिन अभी भारत में कोहराम मचा है। मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में एक ही दिन कोरोना के 1,841 नए संक्रमितों के मामले सामने आने के साथ ही 7 उपचाररत संक्रमितों की मृत्यु हुई है। वहीं उज्जैन जिले में रविवार रात कोरोना के 304 मामले सामने आए हैं वहीं 2 लोगों की मौत हुई है।

कोहराम : दिल्ली में श्मशान हुए फुल, पार्क में अंतिम संस्कार
नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की वजह से हाहाकार मचा हुआ है। इस समय दिल्ली में पिछले काफी दिनों से न सिर्फ लगातार 25 हजार कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं बल्कि मरने वालों का आंकड़ा भी रिकॉर्ड बनाता जा रहा है। हालात अब ये हो चले हैं कि श्मशान घाटों पर शव जलाने के लिए भी लंबी-लंबी लाइन लग रही हैं, तो कई जगह शव का अंतिम संस्कार पार्कों में किया जा रहा है। ऐसा ही कुछ दिल्ली के सराय काले खां में श्मशान घाट पर दिख रहा है। दिल्ली में तीनों नगर निगम के 9 क्षेत्रों में 21 श्मशान और कब्रिस्तान हैं, लेकिन लगातार बढ़ती मौतों के कारण हर जगह वेटिंग चल रही है। इस बीच सराय काले खां के उसे हरे-भरे पार्क में शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा हैं, जहां लोग टहलने और हवा खाने आते थे। उल्लेखनीय है कि बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए कल ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 2 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की थी।

मजबूरी : एंबुलेंस नहीं मिली तो कार पर पिता का शव बांधकर श्मशान पहुंचा बेटा
आगरा। कोरोना महामारी कहर बनकर टूट रही है। न संक्रमण थम रहा है और न ही मरीजों की मौत का सिलसिला। प्रशासन के आंकड़े कुछ भी हों, लेकिन श्मशान घाट पर चिताओं की आग नहीं बुझ रही है। ताजगंज श्मशान घाट पर रोज 40 से ज्यादा शव पहुंच रहे हैं। हालत यह है कि शवों को ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिल पा रही है। एक-एक एंबुलेंस में तीन-चार शव लाने पड़ रहे हैं। एंबुलेंस न मिलने के कारण एक युवक अपने पिता के शव को कार के ऊपर बांधकर श्मशान पर पहुंचा। जयपुर हाउस में रहने वाले मोहित को काफी कोशिशों के बाद भी पिता का शव ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली। जब कोई रास्ता नहीं सूझा, तो मोहित ने पिता के शव को कार के ऊपर बांधा और दाह संस्कार के लिए श्मशान घाट लेकर पहुंचे। अंतिम संस्कार का समय मिलने पर पिता के शव को बेटे ने कार की छत से उतारकर रखा।
श्मशान घाट पर अपनों के शव लेकर पहुंचे परिजनों ने जब यह नजारा देखा, तो उनकी आंखें भी नम हो गईं।

डर : निवाड़ी में ग्रामीणों ने महिला का अंतिम संस्कार रोका
टीकमगढ़। निवाड़ी जिले में कोरोना के भय से ग्रामीणों ने सार्वजनिक श्मशान घाट पर महिला का अंतिम संस्कार करने से रोक दिया। उन्होंने मृतका के परिजनों से कहा कि अपने निजी खेत पर ही अंतिम संस्कार करें। जानकारी लगने पर मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अमले ने अपनी देखरेख में विधि विधान के साथ गांव के ही श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कराया। टीकमगढ़ न्यायालय में पदस्थ पृथ्वीपुर थाना क्षेत्र के चिरपुरा गांव निवासी साधना मिश्रा की पिछले करीब एक सप्ताह से मलेरिया बीमारी के चलते तबीयत खराब चल रही थी। देर रात अचानक हालत बिगडऩे पर परिजन उन्हें इलाज के लिए झांसी मेडिकल कॉलेज लेकर निकले, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। महिला के शव को लेकर परिजन जब पैतृक गांव चिरपुरा पहुंचे तो ग्रामीणों ने कोरोना संक्रमण के डर से सार्वजनिक श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार करने से रोक दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: