Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

कांग्रेस नेत्री बोली- बड़ा खुलासा करने से पहले पुलिस पहुंची घर, गंगेड़ी प्लांट पर भी किया था हंगामा
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

मध्य प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नूरी खान कोरोना संक्रमण काल में लोगों की मदद कर रही हैं। उन्होंने 2 दिन पहले इंदौर रोड स्थित तपोभूमि के पास ऑक्सीजन प्लांट पहुंच कर ऑक्सीजन जिले को उपलब्ध ना कराते हुए दूसरे शहरों में भेजने का आरोप लगाया था। देर रात नानाखेड़ा थाना पुलिस ने कांग्रेस प्रवक्ता के खिलाफ धारा 188 और शासकीय कार्य में बाधा डालने की धारा 353 में केस दर्ज कर लिया। आज सुबह पुलिस उनके घर पहुंची और गिरफ्तार कर थाने ले गई।
कांग्रेस प्रवक्ता नूरी खान को अपने खिलाफ दर्ज प्रकरण की जानकारी रात में ही लग चुकी थी। सुबह जैसे ही पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए घर पहुंची और उन्हें हिरासत में लिया गया तो उन्होंने फेसबुक पर घर आई पुलिस और गिरफ्तारी की कार्रवाई को लाइव कर दिया। उनका कहना था कि मैं पुलिस की कार्रवाई से बिल्कुल नहीं डरूंगी आम लोगों की आवाज उठाती रहूंगी। माधव नगर की अव्यवस्था और ऑक्सीजन प्लांट से जिले को पर्याप्त ऑक्सीजन उपलब्ध ना कराते हुए देवास रतलाम और भोपाल भेजे जाने का खुलासा करने के बाद आज वह अस्पतालों में बरती जा रही लापरवाही का सबसे बड़ा खुलासा करने वाली थी। जिसके लिए रात भर तैयारी की ओर सुबह सेहरी करने के बाद सिर्फ एक घंटा ही सो पाई और पुलिस गिरफ्तार करने आ गई। विदित हो कि नूरी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती है और शहर की समस्याओं को लेकर आवाज उठाती है वह लोगों की मदद के लिए भी कई बार आगे आ चुकी है। वर्तमान में कोरोना संक्रमण के दौरान लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत पडऩे पर मदद कर रही हैं।

विधायक परमार सहित कांग्रेस नेता पहुंचे थाने
नूरी खान की गिरफ्तारी की जानकारी लगते ही तराना विधायक महेश परमार अपने समर्थक वीनू कुशवाहा और अजीत सिंह ठाकुर के साथ नानाखेड़ा थाने जा पहुंचे जहां उन्होंने डीएसपी एचआर बाथम और टीआई ओपी अहीर के सामने नूरी की गिरफ्तारी का विरोध दर्ज कराया। विधायक परमार का कहना था कि वह लोगों की सेवा में लगी हुई है उसे इस तरह से गिरफ्तार कर थाने लाया जाना गलत है। काफी देर तक पुलिस अधिकारी और विधायक के बीच चर्चा का दौर चलता रहा। उसके बाद नूरी खान को थाने से ही जमानत देकर रिहा कर दिया गया। नूरी का कहना था कि वह आगे भी लोगों की लड़ाई लड़ती रहेंगी। विदित हो कि महेश परमार भी लगातार अस्पतालों और कोरोना संक्रमित मरीजों को हो रही परेशानी और उन्हें मिलने वाली सुविधा को लेकर आवाज उठा रहे हैं। कुछ दिन पूर्व उन्होंने टावर चौक बैठकर प्रतिमा के समीप उपवास की शुरुआत की थी लेकिन कलेक्टर के आश्वासन पर 2 घंटे में ही उपवास समाप्त कर प्रशासन का सहयोग किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *