Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN
News That Matters

संक्रमण को न्योता: शटर गिराकर लालच की ग्राहकी कर रहे व्यापारी

उज्जैन। शहर के प्रमुख मार्गों में आवाजाही रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेड्स लगाकर रास्ते बंद कर दिए हैं। वहीं चेकिंग प्वाइंट लगाकर तफरी करने निकलने वाले लोगों के चालान कर पुलिस जुर्माना भी वसूल रही है, लेकिन प्रशासन व पुलिस की यह सख्ती कई बाजारों में नजर नहीं आ रही। इसका फायदा कुछ कारोबारी जमकर उठा रहे हैं। बाजार खुलने और बंद होने के तय समय के बाद भी व्यापारी दिखावे के लिए दुकान का शटर गिराकर उस पर ताला भी लटका रहे हैैं, लेकिन दुकान के अंदर आठ से दस लोगों को घुसाकर कारोबार कर रहे हैं। यह लालच कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए किए जा रहे प्रयासों को पलीता लगा रहा है। व्यापारी बेफिक्र होकर संक्रमण को न्योता दे रहे हैं।
उज्जैन में संक्रमितों की संख्या लगातार बढऩे से शहर की स्वास्थ्य सेवाएं चरमारने की स्थिति में पहुंच गई है। आक्सीजन की कमी, जीवनरक्षक दवाओं का टोटा व मुक्तिधामों में शवों की कतार स्थिति के भयावह होने की साफ तस्वीर है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पिछले एक पखवाड़े से कोरोना कफ्र्यू लगाया गया है। शुरुआत के दिनों में बाजारों से लेकर मार्केट में सख्ती नजर आई थी। अगर कफ्र्यू का पालन नहीं किया तो हालात और भी अधिक खराब हो सकते हैं। व्यापारी दो पैसे कमाने की लालच में सुबह घर से निकलकर अपनी मार्केट में आ जाते हैं। दुकान पर काम करने वाले लोगों को भी बुला रहे हैं। इसके बाद दुकान मालिक बाहर खड़ा हो जाता है। दुकान काम करने वाले लोगों को दुकान के अंदर बैठा देता है। ग्राहक नजर आते ही शटर उठाकर दुकान के अंदर घुसा देता है। शहर में ऐसी स्थिती कई जगह देखने को मिल रही है। पुलिस की गाड़ी आते ही दुकानदार शटर बंद कर देता है और जैसे ही गाड़ी चले जाती है वैसे ही पुन: दुकानदार आधी शटर खोल कर व्यापार करना शुरू कर देता है। जिससे संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है।
जिम्मेदार आक्सीजन व दवाओं में उलझे
जिला प्रशासन व पुलिस पर इस समय दोहरी जवाबदारी है। एक तरफ संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कफ्र्यू का पालन कराना और दूसरी तरफ मरीजों की जान बचाने आक्सीजन व जीवनरक्षक दवाओं की व्यवस्था करना। प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी इन्हीं व्यवस्थाओं में उलझे हुए हैं।
हम भी समझें अपनी जिम्मेदारी
जानलेवा कोरोना काल में हमें भी अपनी जिम्मेदारी को समझना होगा। समाज व शहर के लिए इस समय दुकानदारी जरूरी है या फिर संक्रमण को घर ले जाने से बचने के लिए कोविड गाइडलाइन का पालन करना है। स्वयं की इमानदारी और समझदारी से शहर इस संकट से उबर सकता है। लोगों को भी अपनी जिम्मेदारी समझना होगी और बार-बार बाजारों में जाने से बचना होगा। उल्लेखनीय है कि प्रशासन ने किराना सामग्रियों की होम डिलेवरी सेवा चालू कर रखी है। फिर भी कुछ कतिपय लोग बार-बार बाजारों में जाकर भीड़ बढ़ा रहे है। इन्हीं लोगों को अपनी जिम्मेदारी समझना होगी।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!
%d bloggers like this: