Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

कोरोना की तीसरी लहर बच्चों पर बरपाएगी कहर!

विशेषज्ञों ने जताई यह खौफनाक आशंका
नई दिल्ली। कोरोना महामारी की पहली लहर में जहां सबसे ज्यादा बुजुर्ग लोग संक्रमित हुए। वहीं दूसरी लहर में कोरोना वायरस के निशाने पर युवा आबादी रही। अब विशेषज्ञ आशंका जता रहे हैं कि अगर देश में तीसरी लहर आई तो यह बच्चों के लिए जानलेवा साबित हो सकती है। ऐसा दुनिया के दूसरे देशों में भी हुआ है। विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि भारत में कोरोना की तीसरी लहर सितंबर तक आ सकती है। बाल चिकित्सा और संक्रामक रोगों के विशेषज्ञों ने कहा है कि सरकार को जल्द से जल्द बच्चों के टीकाकरण के कार्यक्रम को शुरू करना चाहिए नहीं तो कोरोना की तीसरी लहर में 18 से कम उम्र वाले बच्चों बुरी तरह से प्रभावित हो सकते हैं। संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. नितिन शिंदे कहते हैं कि बच्चों का टीकाकरण बहुत महत्वपूर्ण है।
अन्यथा कोरोना की तीसरी लहर टीका नहीं लगवा पाए इन बच्चों को अपने चपेट में ले लेगी। देश में 18 से 44 वर्ष के बीच के नागरिकों के लिए टीकाकरण शुरू हो चुका है। इस आयु-वर्ग से ऊपर के कई लोगों को पहले से ही वैक्सीन की सुरक्षा कवच मिल चुकी है। इसलिए अब वायरस उन लोगों को लक्षित करेगा जिनके पास यह सुरक्षा नहीं है।
बच्चों के टीकाकरण बिना हर्ड इम्युनिटी संभव नहीं
टीका अब 18-45 वर्ष के नागरिकों के लिए लगना शुरू हो चुका है लेकिन वंचित आयु वर्ग 0-18 वर्ष हैयह समूह देश की कुल आबादी का 30 फीसदी है। बिना बच्चों के टीकाकरण के हर्ड इम्युनिटी पाना संभव नहीं होगा। बच्चे संक्रमण के वाहक हैं और वे तीसरी लहर में लोगों को संक्रमित करना जारी रख सकते हैं। स्कूल का खुलना सामान्यीकरण की दिशा में बड़ा कदम होगा जोकि बच्चों के टीकाकरण के बाद ही संभव है।
बीएमसी बनाने लगी बच्चों के लिए कोविड वॉर्ड
कोविड की तीसरी लहर में बच्चे के कोरोना से चपेट में आ सकने की संभावना को देखते हुए बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) और महाराष्ट्र सरकार मिलकर शहर में बाल चिकित्सा कोविड देखभाल वार्ड स्थापित कर रही है। कोविड की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले हफ्ते राज्य के सभी जिला कलेक्टरों और नगरपालिका आयुक्तों को कोविड तीसरे हमले के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है।
मई के अंत तक दूसरी लहर खत्म होने की उम्मीद
कोरोना वायरस मामले की भविष्यवाणी पर सरकार के गणितीय मॉडलिंग विशेषज्ञ एम. विद्यासागर ने सुझाव दिया कि भारत में 7 मई तक कोरोना वायरस का पीक देखने को मिल सकता है। कोरोना की दूसरी लहर समाप्त होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मई के अंत तक कोरोना के मामलों में तेजी से कमी आएगी। कोरोना के नए मामलों का दैनिक आंकड़ा घटकर 1.2 लाख पर दिन रह जाएगा। उन्होंने साफ किया कि हम यह नहीं कह रहे कि कोरोना के मामले देश में शून्य हो जाएंगे, लेकिन अच्छी खासी गिरावट आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: