Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890
News That Matters

खेत से लौटते समय नाला पार कर रहे दो भाइयों की डूबने से हुई मौत

2 दिन में दो हादसे, परिवारों के साथ गांवों में छाया मातम
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन
पिछले दिनों हुई बारिश के बाद नदी नालों और खदानों में भरा पानी जान का दुश्मन बना हुआ है। बुधवार को खेत से लौटते समय दो मासूम भाइयों की नाला पार करते समय डूबने से मौत हो गई। इस घटना से पहले मंगलवार को भी दो चचेरे भाइयों की खदान में भरे पानी से लाख बाहर निकाली गई थी।


बडनगर तहसील के भाट पचलाना थाना क्षेत्र ग्राम अजड़ावदा में रहने वाले कृषक छतर सिंह पवार के 2 पुत्र उमेंद्र सिंह और युवराज बुधवार दोपहर घर से कुछ किलोमीटर दूर खेत पर पिता को चाय देने के लिए साईकिल से पहुंचे थे। लौटते समय रास्ते में नाला पार करते समय उनकी साईकिल फिसल गई और एक भाई नाले में हुए गहरे गड्ढे में गिर गया। दूसरे भाई ने उसे बचाने का प्रयास किया। दोनों गड्ढे की गहराई में चले गए। घटनाक्रम की जानकारी लगने पर ग्रामीण एकत्रित हो गए। भाटपचलाना टीआई राघवेंद्र सिंह कुशवाह अपनी टीम के साथ मौके पर जा पहुंचे। दोनों की तलाश में ग्रामीण नाले में उतरे और कुछ देर बाद दोनों को बाहर निकाला गया। दोनों भाई की मौत हो चुकी थी। एक कक्षा पांचवी का छात्र था दूसरा तीसरी कक्षा में पढ़ता था। दोनों के शव देख परिवार बदहवास हो गया। कृषक छतर सिंह की दो पुत्रियां है और 2 पुत्र थे।

मामले में पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए पहुंचाए। अंतिम संस्कार के लिए दोनों को गांव लाया गया तो पूरे क्षेत्र में माहौल गमगीन हो गया। बताया जा रहा है कि नाला ज्यादा गहरा नहीं है और उसमें पानी भी कम हो चुका है। लेकिन गहरे गड्ढे बीच-बीच में हो चुके हैं। जिसकी वजह से दोनों भाइयों की जान गई है।

मंगलवार को खदान में डूबे थे मौसेरे भाई
मंगलवार को ग्राम बंबोरा में खदान पर नहाने गए दो मौसेरे भाई यश 16 वर्ष निवासी पीथमपुर और खुशाल 16 वर्ष निवासी बडऩगर की डूबने से मौत हो गई थी। दोनों अपने नाना का पहला श्राद्ध होने पर आए थे। खदान में नहाने के दौरान उन्हें गहराई का अंदाजा नहीं रहा जिसके चलते दोनों के साथ घटनाक्रम होना सामने आया है। इस मामले में कलेक्टर आशीष सिंह और मंत्री मोहन यादव ग्राम बंबोरा पहुंचे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: