Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

पत्नी आइसोलेशन में, मां कमरे में पहुंची तो लहूलुहान देखा
उज्जैन। ऑटो चालक ने खुद को जघन्य रूप से लहूलुहान कर रात 3 बजे आत्महत्या कर ली। उसने अपने दोनों हाथों की नसे काटकर गला भी रेत लिया था। घटना स्थल से शीट कटर की धारदार ब्लेड मिली है।
नागझिरी थाना क्षेत्र के ग्राम मालनवासा स्थित रिधि विहार कॉलोनी में रहने वाले ऑटो चालक बसंत पिता अनिल राणावत 32 वर्ष का शव लहूलुहान हालत में रात 3 बजे उसकी मां किरण ने कमरे में पड़ा देखा। अपने दूसरे बेटे को नींद से जगा कर जानकारी दी और पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने तड़के 5 बजे मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया। वही मामले की जांच के लिए एफ एस एल अधिकारी डॉ. प्रीति गायकवाड को बुलाया गया। ऑटो चालक बसंत के दोनों हाथों की नशे कटी हुई थी और गला बुरी तरह रहता हुआ था। प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का सामने आया है घटनास्थल से शीट कटर की ब्लेड बरामद की गई है। एफ एस एल अधिकारी का कहना था कि युवक ने खुद को काफी जघन्य तरीके से काटा है, पहले उसने हाथों की नसें काटी थी ऐसा घटनास्थल से प्रतीत हुआ है उसके बाद अपना गला रेता है उन्होंने भी अब तक की अपनी विवेचना में ऐसी आत्महत्या का मामला पहली बार देखा है। पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम कराकर लाश अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दी।
पत्नी आइसोलेशन में बेटा नानी के घर
मृतक के भाई भूषण ने बताया कि बसंत की पत्नी डिंपल की तबीयत खराब होने पर डॉक्टरों ने उसे आइसोलेशन में रहने की सलाह दी है। जिसके चलते वह अलग कमरे में थी। भाभी की तबीयत खराब होने पर बसंत अपने एक बेटे को नानी के यहां छोड़ आया था। रात तक वह बिल्कुल ठीक था मां के साथ कुछ देर घर के बाहर टहलने भी गया था उसके बाद अपने कमरे में चला गया था। पुलिस के अनुसार घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। मामले की जांच शुरू की गई है।
मकान को लेकर था परेशान
भाई ने बताया कि पिता सरकारी नौकरी में है कुछ समय पहले ही रिधि विहार में मकान खरीदा था। जीत की दीवार क्रेक हो गई थी बिल्डर ने तोड़कर नई बना दी थी बावजूद दीवार में क्रैक आ गया था। बिल्डर ने मकान वापस लेने और 22 लाख वापस लौट आने की बात भी कह दी थी। लेकिन लॉक डाउन लग गया और इस बीच उसका ऑटो व्यवसाय भी पूरी तरह बंद हो गया। बैंक से लोन लिया गया था जिसकी किस्त भी लगातार आ रही है जिसको लेकर बसंत परेशान रहता था संभवत इसी के चलते हैं आत्मघाती कदम उठाया है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!