Domain Registration ID: DF4C6B96B5C7D4F1AAEC93943AAFBAA6D-IN Editor - Rahul Singh Bais, Add: 10, Sudama Nagar Agar Road Ujjain M.P. India, Mob: +91- 81039-88890

सड़कों पर फैला कीचड़, गर्मी और उमस ने बढ़ाई लोगों की परेशानी
माटी की महिमा न्यूज /उज्जैन

बीती शाम एक बार फिर तेज बारिश से शहर तरबतर हो गया। मानसून से पहले हो रही बारिश को मौसम विभाग ने प्री-मानसून की एक्टिविटी होना बताया है। बारिश की वजह से न्यूनतम तापमान में गिरावट आई है। लेकिन आज सुबह खिली धूप के बीच उमस ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी थी।
शहर में दो दिनों से शाम ढलते ही मौसम का मिजाज बदला हुआ नजर आ रहा है। तेज बारिश और ठंडी हवा से लोग राहत महसूस कर रहे हैं। बुधवार दिनभर सूर्यदेव के तेवर दिखाई दे रहे थे। अधिकतम तापमान 40 डिग्री के करीब पहुंच चुका था। एकाएक शाम को बादलों ने डेरा डाला और रिमझिम के साथ शुरू हुई बारिश कुछ देर में ही झमाझम शुरू हो गई। करीब एक घंटे बारिश से शहर तरबतर होता रहा। हवा 6 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चल रही थी। बारिश और हवा से दिनभर की गर्मी ठंडक में बदल चुकी थी। लोगों ने राहत महसूस की। इस बीच न्यूनतम तापमान में भी 4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है। जीवाजी राव वेधशाला के अनुसार न्यूनतम तापमान 22 डिग्री पर आ गया है जो 26 डिग्री को पार कर चुका था। जिस तरह से शाम ढलते ही दो दिनों से बारिश हो रही है यह प्री-मानसून का आगाज माना जा रहा है। शहर में मानसून के सक्रिय होने की तारीख 15 जून तय है। लेकिन इससे पहले होने वाली बारिश प्री-मानसून के रूप में दर्ज की जाती है। कल शाम हुई बारिश 23 मिलीमीटर दर्ज हुई है।
अनलॉक में अब कीचड़ बन रहा मुसीबत
कोरोना कफ्र्यू के दौरान शहरभर में टाटा कंपनी ने सिवरेज लाइन डालने के लिए सड़कों को खोद दिया था जो अनलॉक में अब लोगों के लिए मुसीबत बनी नजर आ रही है। बारिश की वजह से सड़कों पर कीचड़ फैल चुका है। इस बीच कोरोना का खतरा पूरी तरह से समाप्त नहीं होने पर प्रशासन द्वारा अनलॉक प्रक्रिया में दुकानों को लेफ्ट-राइट नियम में खोला जा रहा है। सड़कों पर कीचड़ फैलने और दुकानों के सामने मिट्टी के ढेर लगे होने से जहां दुकानदारों का व्यवसाय प्रभावित हो रहा है वहीं लोगों को भी खरीददारी करने में परेशानी उठानी पड़ रही है। इन दिनों शहर के अधिकांश मार्गों पर खुदाई का काम चल रहा है और कुछ दिन बाद ही मानसून की दस्तक होने वाली है। पहले ही टाटा कंपनी समय सीमा से अधिक समय काम पूरा करने का ले चुकी है। एक बार फिर वर्षाकाल में लोगों को कंपनी की वजह से परेशान होना पड़ेगा।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!